‘देवदास’ से ठीक उलट ‘दासदेव’ की कहानी : सुधीर मिश्रा

Devdas was journey of Dev to Das, Daasdev the reverse: Sudhir Mishra

मुंबई। फिल्म-निर्देशक सुधीर मिश्रा (Sudhir mishra) ने कहा है कि उनकी आगामी फिल्म ‘दासदेव’ (Dasdev) की कहानी क्लासिक उपन्यास ‘देवदास’ (Devdas) से ठीक उलट चलती है। इसकी वजह फिल्म के किरदार में बदलाव है। बिहार को फिल्म शूटिंग के एक स्थल के रूप में प्रचारित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में मिश्रा ने कहा, “मैं ‘दासदेव’ बना रहा हूं। कहानी ‘देवदास’ के इर्द-गिर्द है।

यदि देवदास (Devdas) की कहानी में आप देव के दास बनने की यात्रा देखते हैं, तो इस फिल्म की कहानी ‘दास’ के देव बनने की यात्रा है।” आगामी फिल्म ‘दासदेव’ (Dasdev) में ऋचा चड्ढा, (Richa chadda) अदिति राव हैदरी (Aditi rao hydari) और राहुल भट्ट (Rahul bhatt) प्रमुख भूमिकाओं में हैं।


 ‘हजारों ख्वाइशें ऐसी’ (Hazaro khwahishe aisi movie)  के निर्देशक ने यह भी कहा कि इस फिल्म में फिल्मकार अनुराग कश्यप (Anurag kashyap) की भी एक छोटी-सी भूमिका है। गौरतलब है कि बिमल रॉय (Bimal roy) की ‘देवदास’ (Devdas) में दिग्गज दिलीप कुमार (Dilip Kumar) ने महत्वपूर्ण किरदार निभाया था और संजय लीला भंसाली की ‘देवदास’ (Sanjay Leela bhansali devdas) में सुपरस्टार शाहरुख खान (Shahrukh khan ) ने यह किरदार निभाया था।

सुधीर मिश्रा (Sudhir Mishra) ने इससे पहले 2013 में आई फिल्म ‘इंकार’ (Inkaar) का निर्देशन किया था। इसमें अर्जुन रामपाल (Arjun rampal) और चित्रांगदा सिंह (Chitrangada Singh) ने भूमिकाएं निभाई थीं।

 

 

Read all Latest Post on मनोरंजन manoranjan in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: devdas was journey of dev to das daasdev the reverse sudhir mishra in Hindi  | In Category: मनोरंजन manoranjan

Next Post

अच्छे समय की तरह बुरा समय भी महत्वपूर्ण : हुमा कुरैशी

Sat Jun 4 , 2016
नई दिल्ली| वर्तमान में अपनी आने वाली तीन फिल्मों ‘दोबारा’ (Dobara), ‘वायसराएज हाउस’ (Viceroy’s House) और दक्षिण भारतीय फिल्म ‘व्हाइट’ (White) में व्यस्त अभिनेत्री हुमा कुरैशी (Huma qureshi) का कहना है कि जीवन में बुरे समय का अनुभव अच्छे समय की तरह ही जरूरी होता है, क्योंकि यह हमें कई […]
Bad times are as important as good days: Huma Qureshi

All Post


Leave a Reply