Bhoomi movie review in hindi

2016 में जेल से रिहाई के बाद फिर एक बार संजय दत्त किसी फिल्म में मुख्य भूमिका में आ रहे है, फिल्म का नाम है भूमि (Bhoomi), जिसका निर्देशन ओमंग कुमार ने किया है | फैन्स के लिए सच में संजय दत्त की एक परफेक्ट कमबैक है और ये कहना भी गलत नही होगा कि यह फिल्म सिर्फ और सिर्फ संजय दत्त के फैन्स के लिए है | संजय दत्त के जीवन के बारे में पढ़ने के लिए देखें हमारी पोस्ट संजय दत्त खलनायक से नायक बनने के दास्तान।  

फिल्म की कहानी अरुण सचदेवा और उसकी बेटी भूमि की है | भूमि की शादी एक डॉक्टर से होने वाली होती है मगर शादी से एक दिन पहले भूमि को पसंद करने वाला एक युवक अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर भूमि का बलात्कार करते है | अरुण कानून के दरवाज़े पर इन्साफ की गुहार लगाता है, परन्तु सबूतों के अभाव में छूट अपराधियों को छोड़ दिया जाता  हैं। फिर वही होता है जो आपने पहले भी कई बार देखा है | बाप अपनी बेटी के इन्साफ के लिए कानून को अपने हाथ में लेकर बलात्कारियों को सबक सिखाता हैं।

शरद केलकर ने खलनायक की भूमिका बखूबी निभायी है। संजय दत्त और उनकी बेटी बनी अदिति राव हैदरी ने अपने काम से प्रभावित किया है | फिल्म में संवाद अच्छे है हालाँकि वो कुछ गिने चुने ही है |फिल्म की सबसे बड़ी कमजोरी है इसकी थकी हुयी स्क्रिप्ट और लचर निर्देशन | बाकी फिल्म में ऐसा कुछ नही है जिसकी बात की जाए |

 

भूमि : फिल्म समीक्षा BHOOMI – Movie Review

 

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें