OMERTA’ Movie Review In Hindi : उमर सईद शेख की बायोपिक जिसे देखकर आप सिहर जाएंगे

Omerta movie review A surprisingly passion-less biopic of Omar Saeed Sheikh

OMERTA’ Movie Review In Hindi

ओमर्टा, बॉलीवुड फिल्मों के शौक़ीन लोगों को शायद यह नाम अजीब लगे, ओमर्टा का अर्थ बेहद गंभीर है। दरअसल ओमर्टा एक इटालियन शब्द है, जिसका मतलब होता है ख़ामोशी। जहाँ सेंसर बोर्ड ने फिल्म के रिलीज होने से पहले ही इस फिल्म पर दो दृश्यों पर कैची चलायी है, हालाँकि अब फिल्म रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म की लम्बाई 1 घंटा 30 मिनट है, जो कि हंसल मेहता की सबसे छोटी फिल्म है। इस फिल्म का निर्देशन हंसल मेहता ने किया है और मुख्य भूमिका में राजकुमार राव है। इस जोड़ी की शुरुआत फिल्म शाहिद से हुयी थी, जिसके बाद यह दोनों सिटीलाइट और अलीगढ में भी अपने जादू को कायम रखते हुए नज़र आये थे | अब इस जोड़ी की नयी पेशकश है ओमर्टा।

ओमर्टा कोई काल्पनिक कहानी न होकर सत्य घटना पर आधारित है। कहानी पढ़े-लिखे व समझदार अहमद उमर सईद शेख की है, जो बोस्निया में अपने मुस्लिम भाई-बहनों पर बढ़ते अत्याचारों से अंदर तक दुखी हैं। वो चाहता है कि वो इनकी मदद करे और इसी उद्देश्य के साथ वो लंदन के एक मौलाना से अपने मन की बात साझा करता है। यहीं से कहानी एक नया रुख लेती है। पहले उमर का ब्रेनवॉश और उसके बाद ट्रेनिग देकर बेहद खुंखार आतंकवादी बना दिया जाता है। हालाँकि उमर के पिता सईद शेख उसे समझाने की कोशिश करते हैं, परन्तु वो किसी की नहीं सुनता । परन्तु ट्रेनिंग के बाद उमर बोस्निया के बजाय कश्मीर के उद्देश्य पर कार्यरत हो जाता है, जिसका कारण उसके दिमाग में डाले गये विचार होते है, जिसके चलते उसे लगता है बोस्निया की ही तरह कश्मीर में भी उसकी कौम के साथ अत्याचार किया जा रहा हैं। कई आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देते हुए उमर दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादियों की सूची में शामिल हो गया जाता है । वर्ष 2002 में अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के आरोप में उमर को गिरफ्तार किया जाता है तथा मौत की सजा दी जाती है। पंरतु आज तक इस पर तामील नहीं हो सका है। यही फिल्म का आखिरी दृश्य है |


फिल्म में 1994 में भारत में विदेशी नागरिकों के अपहरण, 1999 में कंधार विमान अपहरण के बाद तीन आतंकवादियों की रिहाई, 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर आतंकवादी हमला, पाकिस्तान में अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या और 2008 में मुंबई पर आतंकवादी हमले की घटनाओं को जस का तस चित्रण किया गया है। हंसल मेहता बधाई के पात्र है कि उन्होंने अन्य निर्देशकों की तरह फिल्म के विषय से किसी प्रकार की कोई छेड़छाड़ नहीं किया है और घटनाओं को उनके मूलरूप में ही पेश किया है अत: इस फिल्म न कहकर डाक्यूमेंट्री ड्रामा कहा जाए तो कोई गलत नहीं होगा। फिल्म की गति थोड़ी धीमी है, परन्तु फिल्म का विषय ही ऐसा है जिसमे फिल्म को दौड़ाया नहीं जा सकता था। फिल्म का गीत संगीत ठीक-ठाक है |

यदि अभिनय की बात की जाए तो फिल्म में सिर्फ राजकुमार राव ही नज़र आते है और वो अपने प्रसंशकों को निराश नहीं करते है। राजकुमार एक उम्दा कलाकार है, इसमें कोई शक नहीं है। एक आतंकवादी के किरदार में राजकुमार इतना रम गये कि आपको भी कही कही पर लगने लगेगा कि ये कैसा निर्दय और क्रूर इंसान है। आप भूल जायेंगे कि आप अपने पसंदीदा कलाकार को देखने आये हैं, आप फिल्म को देख उसे उसकी क्रूरता के लिए कोसते हुए नज़र आयेंगे।

यकीनन यह एक बेहतरीन फिल्म है, परन्तु यदि आप नाच गाने के उद्देश्य से भरी फिल्म देखते है तो यह फिल्म आपके लिए नहीं है। यदि आप विषय प्रधान फिल्मों के शौक़ीन है तो ओमर्टा आपको निराश नहीं करेगी।

 

OMERTA MOVIE REVIEW | HINDI | INDIA | RAJKUMMAR RAO

Read all Latest Post on फिल्म समीक्षा movie review in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: omerta movie review a surprisingly passion less biopic of omar saeed sheikh in Hindi  | In Category: फिल्म समीक्षा movie review

Next Post

एक बार फिर चर्चाओं में क्रिस गेल, इस बार वजह बनी सपना चौधरी

Tue May 8 , 2018
कभी गुमनामी में जीने वाली हरियाणवी सिंगर सपना चौधरी आज एक लोकप्रिय नाम है तो दूसरी तरफ वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल अपने आप में एक ब्रांड है, परन्तु आज गेल और चौधरी का एक कनेक्शन बन गया है, जिसके चलते गेल का वीडियो खूब वायरल हो रहा है। […]
Watch Video-Chris Gayle Dance On Teri Aakhya Ka Yo KajalWatch Video-Chris Gayle Dance On Teri Aakhya Ka Yo Kajal

All Post


Leave a Reply

error: खुलासा डॉट इन khulasaa.in, वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट के अधीन हैं। यदि कोई संस्था या व्यक्ति, इसमें प्रकाशित किसी भी अंश ,लेख व चित्र का प्रयोग,नकल, पुनर्प्रकाशन, खुलासा डॉट इन khulasaa.in के संचालक के अनुमति के बिना करता है , तो यह गैरकानूनी व कॉपीराइट का उल्ल्ंघन है। यदि कोई व्यक्ति या संस्था करती हैं तो ऐसा करने वाला व्यक्ति या संस्था पर खुलासा डॉट इन कॉपी राइट एक्त के तहत वाद दायर कर सकती है जिसका सारे हर्जे खर्चे का उत्तरदायी भी नियम का उल्लघन करने वाला व्यक्ति होगा।