Soorma Movie Review In Hindi

हाल फ़िलहाल में संजय दत्त की बायोपिक ने आश्चर्यजनक कमाई कर सबको चौका दिया, ऐसे में एक और बायोपिक हम सबके सामने है, जो कि एक हॉकी प्लेयर की असल ज़िन्दगी के ऊपर है। इस खिलाड़ी का नाम है संदीप सिंह और फिल्म का नाम है सूरमा।

संदीप सिंह की भूमिका में है दिलजीत दोसांझ, जिन्होंने अपने किरदार में पूरी जान डाल दी है। तो दूसरी तरफ बॉलीवुड की खुबसूरत नायिका चित्रांगदा सिंह ने इस फिल्म से निर्माता के तौर पर अपनी पारी शुरू की है और पहली ही फिल्म में एक बेहतरीन सब्जेक्ट ला, उन्होंने पहली ही बॉल पर सिक्स जड़ दिया है।

फिल्म की कहानी 1994 के दृश्य के साथ शुरू होती है, जिसमे भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा बनने का सपना देखने वाले संदीप सिंह और उसका भाई विक्रमजीत सिंह हॉकी कोच के कठोर रवैये से परेशान हो संदीप सिंह हॉकी से दूरी बना लेता हैं । कहानी कई वर्ष आगे चली जाती है। इसके बाद कहानी में एक गैप आता है और कहानी कई वर्ष आगे खिसक जाती है। अब संदीप सिंह और विक्रमजीत सिंह बड़े हो चुके हैं। तब संदीप सिंह के जीवन में हॉकी प्लेयर हरप्रीत की एंट्री होती है और संदीप अपना दिल दे बैठता है । परन्तु हरप्रीत का परिवार संदीप को अपनाने के लिए एक शर्त रखते है कि जिन्दगी में कुछ कर दिखाना है । प्यार को पाने के लिए संदीप एक बार फिर संदीप हॉकी से रिश्ता जोड़ लेता है। मगर तभी एक घटना संदीप के जीवन को बदल के रख देती है, आगे क्या होता है यह देखने के लिए आपको सिनेमाघर की ओर रुख करना पड़ेगा।

और पढ़ें : अक्सर 2 (Aksar 2) फिल्म की समीक्षा खुलासा डॉट इन पर।

फिल्म  का स्क्रीनप्ले काफी दमदार है, जिसके चलते सुरमा एक दमदार फिल्म बनकर उभरती है। फिल्म के इमोशनल सीन्स आपकी आँखे नम करने में किसी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ते, तो ऊर्जा से भरे दृश्य आपके अंदर एक नया जोश भर देते हैं। सबसे कमाल की बात यह है कि इस फिल्म पर इतना वर्क किया गया है कि यदि आपकी रूचि हॉकी जैसे खेल मे यदि न भी हो तो भी फिल्म आपको पलक झपकने का मौका तक नहीं देती। संदीप के किरदार के लिए दिलजीत से बेहतर कोई और नायक हो ही नहीं सकता था।

तापसी पन्नू भी अपने किरदार में बिलकुल फिट नज़र आती हैं। अंगद बेदी और सतीश कौशिक की नायकी ने फिल्म को बांधे रखने का काम किया है। इनके सबके बावजूद दिलजीत के बाद जो किरदार सबसे ज्यादा लुभाता है वो है विजय राज का किरदार, जो कि संदीप के कोच का है। फिल्म का निर्देशन साथिया फेम शाद अली ने किया है,जो हर तरह से मजबूत है। फिल्म का गीत संगीत लाजवाब है, जिसके लिए शंकर एहसान लॉय तारीफ के हक़दार हैं। अगर एक लाइन में कहा जाए तो इस हफ्ते आप इस बेहतरीन फिल्म को देखना न भूलें।

Film Review of Diljit Dosanjh’s Soorma

 

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें