• दिल्ली और मुंबई के कई क्षेत्र हुए प्रदूषण रहित

  • इस बात की जानकारी सफर के निदेशक गुफरान बेग ने दी

  • मुंबई मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र के अन्य क्षेत्रों की तुलना में हवा साफ होने की पुष्टि

नई दिल्ली, 26 अप्रैल (एजेंसी)। लॉकडाउन के चलते भारत में बढ़ते प्रदूषण से मानो देश को राहत मिली हो जिसकी तस्वीर आपको दिल्ली और मुंबई में प्रदूषण से प्रभावित 10 ऐसे क्षेत्रों से मिल सकती है जहाँ प्रदूषण का कहर बरपा हुआ था। ऐसा इसलिए संभव हो सका क्योंकि लॉकडाउन के चलते देशभर के अधिकतर उद्योग व कारखाने बंद हैं, तो साथ ही साथ वाहनों की सड़क से आवाजाही बंद है, जिसका सीधा असर इन दोनों शहरों के 10 इलाकों में देखने को मिल रहा है । सूत्रों के अनुसार वायु गुणवत्ता मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली यानी कि सफर के निदेशक गुफरान बेग ने बताया कि दिल्ली में प्रदूषण के हॉटस्पॉट अब हरित क्षेत्र बन चुके हैं।

उन्होंने लॉकडाउन से पहले और इसके दौरान दिल्ली की वायु गुणवत्ता में आए बदलाव का मानचित्र दिखाते हुए कहा कि विनोबापुरी, आदर्श नगर, साहिबाबाद, आश्रम रोड, पंजाबी बाग, ओखला और बदरपुर को प्रदूषण का हॉटस्पॉट कहा जाता है। वहीं मुंबई के वर्ली और बोरीवली तथा भांडुप भी उन इलाकों में शुमार हैं, जहां मुंबई मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र के अन्य क्षेत्रों की तुलना में हवा साफ हुई है। दिल्ली और मुंबई के इन इलाकों में मुख्य रूप से औद्योगिक गतिविधियों और वाहनों की आवाजाही के चलते अत्यधिक प्रदूषण देखा जाता था। वायु गुणवत्ता सूचकांक के 51 से 100 से बीच रहने को संतोषजनक माना जाता है। इसके बाद 101 से 200 को मध्यम, 201 से 300 को खराब, 301 से 400 को बहुत खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर माना जाता है।

सफर ने लॉकडाउन से पहले 1 मार्च से 25 मार्च तक दिल्ली, मुंबई, पुणे और अहमदाबाद में हवा में पाए गए खतरनाक वायु प्रदूषकों पीएम 2.5, पीएम10 और एनओ2 की तुलना लॉकडाउन के बाद 25 मार्च से 14 अप्रैल के दौरान हवा में मौजूद पीएम 2.5, पीएम10 और एनओ2 के स्तर से की। विश्लेषण में पाया गया कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 36 प्रतिशत, पीएम10 का स्तर 43 प्रतिशत और एनओ2 का स्तर 52 प्रतिशत तक कम हो गया। वहीं मुंबई में इस अवधि के दौरान पीएम 2.5 का स्तर 39 फीसद, पीएम10 का 43 फीसद और एनओ2 का 63 फीसद तक कम हो गया है।

आंकड़ों के अनुसार पुणे में पीएम 2.5 के स्तर में 25 प्रतिशत, पीएम10 में 26 प्रतिशत और एनओ2 में 57 प्रतिशत तक कमी आई है। वहीं अहमदबाद में पीएम2.5 का स्तर 39 प्रतिशत, पीएम10 का स्तर 32 प्रतिशत और एनओ2 का स्तर 27 प्रतिशत तक गिर गया है। लॉकडाउन के दौरान न केवल वायु गुणवत्ता बल्कि नदियों की सेहत में भी जबरदस्त सुधार आया है। कोरोना वायरस के चलते भारत में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है। देश भर में 26 हजार 469 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 824 लोगों की मौत हो चुकी है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें