• ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जाम-मेन्स की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच होगी

  • नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट की परीक्षा 13 सितंबर से

  • दोनों एंट्रेस एग्जाम को लेकर देश में बवाल मचा हुआ

नयी दिल्ली 28 अगस्त (एजेंसी) इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन हेतु आयोजित की जाने वाली  ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE)-मेन्स की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच होगी, जबकि देशभर के मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन हेतु नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) की परीक्षा 13 सितंबर को आयोजित की जाएगी। हालाँकि इन दोनों एंट्रेस एग्जाम को लेकर देश में बवाल मचा हुआ है। जहाँ एक तरफ सरकार और आईआईटी समेत सभी इंजीनियरिंग संस्थान चाहते हैं कि एंट्रेंस एग्जाम निर्धारित तारीखों पर ही हो, न ही तो जीरो ईयर का भय बना हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्टूडेंट्स ही नहीं, उनके पैरेंट्स ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि NEET और JEE परीक्षाओं को टाल दिया जाए। बता दे कि पहले NEET की परीक्षा 3 मई को होने वाली, इसके बाद 26 जुलाई को और इसे एक बार फिर स्थगित करते हुए 13 सितंबर की तारीख निश्चित की गयी थी। ठीक इसी प्रकार से JEE की परीक्षा को भी कई बार टाला जा चूका है। मेन्स के बाद आईआईटी में एडमिशन के लिए एडवांस भी होना है।

ऐसे ने कोरोना संक्रमण के प्रभाव को ध्यान में रखते हुए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने अलग से एक नयी गाइडलाइन जारी की है, वहीँ जेईई परीक्षा के लिए अब तक 8.58 लाख में से 7.5 लाख कैंडिडेट्स अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं, जबकि नीट के लिए 15.97 लाख में से 10 लाख ने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिया है। बता दे कि NEET और JEE के लिए इस बार परीक्षा केंद्र बढ़ाए गए हैं। जहाँ पहले JEE की परीक्षा 570 सेंटरों पर होनी थी, वहीँ अब सेंटर्स की संख्या बढाकर 660 कर दी गयी है । NEET के परीक्षा सेंटरों की संख्या 2546 से बढ़ाकर 3842 कर दी गई है। स्टूडेंट्स को वही सेंटर अलॉट किया जा गया है जो उन्होंने चुना है।

NEET और JEE के दौरान हर बार तलाशी को लेकर सख्ती सुर्खियों में रहती थी। इस बार हाथ से तलाशी नहीं होगी बल्कि हैंडहेल्ड मशीन से होगी। यह इस बार का सबसे बड़ा बदलाव होगा, जो छात्रों को एग्जाम सेंटर पर देखने को मिलेगा। NEET में एक रूम में 24 की जगह 12 उम्मीदवार बैठेंगे। उम्मीदवारों के बीच छह फीट की दूरी तय की गई है। JEE में एक-एक सीट छोड़कर छात्रों को बिठाया जाएगा। सेंटर पर हर उम्मीदवार को नया मास्क और ग्ल्ब्ज दिए जाएंगे। JEE की एक पाली में 1.32 लाख की जगह अब 85 हजार उम्मीदवार बैठेंगे। कुल शिफ्ट 8 से बढ़ाकर 12 कर दी गई है। उन्हें पानी की पारदर्शी बोतल, सेनेटाइजर की छोटी बोतल ले जाने की अनुमति होगी। एग्जामिनेशन हॉल के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने के लिए उम्मीदवारों की इंट्री और एक्जिट एक साथ नहीं होगी। इंतजार कर रहे स्टूडेंट्स सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, इसके लिए एग्जाम हॉल के बाहर भी व्यवस्था रहेगी।


Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें