जानिए, लॉकडाउन 4.0 की नई गाइडलाइंस में किन किन को दी गयी राहत

Know, who was given relief in the new guidelines of Lockdown 4.0
  •  जानिए 31 मई तक क्या क्या खुला रहेगा

  • जानिये 31 मई तक क्या क्या बंद रहेगा

  • ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन राज्य खुद तय करेंगे अपनी सीमा

  • 31 मई तक जारी रहेगा रात का कर्फ्यू 

नई दिल्ली, 18 मई (एजेंसी)। कोरोना महामारी के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन को एक बार फिर बढ़ाते हुए इसकी समय सीमा अब 31 मई तक कर दी गयी है । राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने केन्द्रीय गृह सचिव को पत्र लिखते हुए इस परिस्थिति से निपटने के लिए लॉकडाउन के उपायों को बढाने की बात कहीं । प्राधिकरण ने देश भर में पूर्णबंदी की अवधि 31 मई तक बढाने को कहा है। 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के तीसरे चरण के समाप्त होने के बाद अब आज से लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू हो चूका है । हालाँकि इससे संबंधित दिशा निर्देशों को जल्द ही गृह मंत्रालय घोषित करेगा ।

अंतर राज्य परिवहन राज्य सरकार तय करेंगी विमान सेवा बंद रहेगी। मेट्रो सेवा, स्कूल, कॉलेज बंद रहेगा जोन तय करने का अधिकार राज्यों को होगा। हॉटस्पॉट में पहले की तरह लॉक डाउन रहेगा 14 दिन तक बढ़ाया गया लॉक डाउनलोड 4। चौथे लॉकडाउन में सबसे ज्यादा पावर राज्यों को दिया गया। कंटेनमेंट जोन में पाले गए तरह पाबंदी रहेगी हॉटस्पॉट इलाके में शक्ति जारी रहेगी शाम 7:00 से सुबह 7:00 तक 10 साल से कम उम्र के बच्चे 65 साल से ऊपर के बुजुर्ग गर्भवती मोहल्ला में उनको निकलने पर रोक रेस्टोरेंट की होम डिलीवरी जारी रहेगी, सभी तरह के पूजा स्थल बंद रहेंगे, धार्मिक संस्थाओं को खोलने की इजाजत नहीं। सिनेमा हॉल मॉल जिम स्विमिंग पूल पार्क बंद रहेंगे स्पोर्ट्स कंपलेक्स स्टेडियम बिना दर्शकों के खोले जाएंगे।


 जानिए 31 मई तक क्या क्या खुला रहेगा

  •   अगर राज्य सरकारों के बीच आपसी सहमति बन जाती है तो दो राज्यों के बीच यात्री बसों और गाड़ियों की आवाजाही हो सकेगी।
  • सरकारें अपने स्तर पर फैसला कर राज्यों के अंदर भी बसें शुरू कर सकेंगी।
  • स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खुल सकेंगे, लेकिन दर्शकों की इजाजत नहीं होगी।
  • रेस्टोरेंट्स से आप सिर्फ होम डिलिवरी के लिए खाना मंगवा सकेंगे। होम डिलिवरी करने वाले रेस्टोरेंट्स को किचन शुरू करने की इजाजत दी गई है।
  • सिर्फ वही होटल चालू रहेंगे, जहां हेल्थ, पुलिस, गवर्नमेंट ऑफिशियल्स, हेल्थ वर्कर्स और लॉकडाउन की वजह से फंसे पर्यटक रह रहे हैं।
  • बस डिपो पर चलने वाले कैंटीन और रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्ट्स पर चलने वाली खाने-पीने की दुकानें खुली रहेंगी।

जानिये 31 मई तक क्या क्या बंद रहेगा

  • अंतरराष्ट्रीय और घरेलू यात्री उड़ानें बंद रहेंगी। मेट्रो रेल भी अभी शुरू नहीं होंगी।
  • सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल बंद रहेंगे।
  • स्कूल, कॉलेज, एजुकेशन, ट्रेनिंग, कोचिंग इंस्टिट्यूट भी 31 मई तक बंद रहेंगे। ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग चलती रहेगी।
  • होटल और बार बंद रहेंगे।
  • हर तरह के राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक कार्यक्रमों और जमावड़ों पर रोक जारी रहेगी।

ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन राज्य खुद तय करेंगे अपनी सीमा

  • राज्य सरकारें खुद ही ग्रीन जोन, ऑरेंज जोन और रेड जोन तय करेंगी। उन्हें सिर्फ केंद्र सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय के पैरामीटर्स का ध्यान रखना होगा।
  • रेड और ऑरेंज जोन के अंदर जिला प्रशासन कंटेनमेंट जोन और बफर जोन तय करेगा।
  • कंटेनमेंट जोन में पहले की तरह सिर्फ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी।
  • इन जोन्स के अंदर या बाहर लोगों की आवाजाही न हो, इसका सख्ती से पालन करना होगा।
  • कंटेनमेंट जोन के अंदर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और घर-घर जाकर सर्विलांस बढ़ाना होगा।

31 मई तक जारी रहेगा रात का कर्फ्यू 

शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोग किसी तरह की आवाजाही नहीं कर सकेंगे। जरूरी सेवाओं पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा। स्थानीय प्रशासन इस बारे में जरूरी आदेश जारी कर सकता है।

बच्चों-बुजुर्गों को घर में रहना होगा

65 साल से ज्यादा उम्र के लोग, पहले से बीमार लोग, ग‌र्भवती महिलाएं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों को घर में ही रहना होगा। इलाज या बेहद जरूरी काम से ही घर से निकल सकेंगे।

आरोग्य सेतु का इस्तेमाल और जरूरी सेवाओं के लिए आवाजाही की अनुमति

  • दफ्तरों में आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल तय करना होगा। हर कर्मचारी के फोन पर यह इंस्टॉल होना चाहिए। जिला प्रशासन लोगों को यह ऐप इंस्टॉल करने की सलाह दे सकता है।
  • लोगों को इस पर अपना हेल्थ स्टेटस अपडेट करना होगा। इससे उन लोगों को फौरन मदद मिल सकेगी, जिन्हें संक्रमण होने का खतरा है।
  • सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे मेडिकल प्रोफेशनल्स जैसे, डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मचारियों और एम्बुलेंस की आवाजाही होने दें। इसमें रुकावट नहीं आनी चाहिए।
  • सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सामान ढुलाई करने वाले ट्रक या अन्य वाहनों की आवाजाही सुनिश्चत करनी होगी। इसमें खाली ट्रक भी शामिल होंगे।

लॉकडाउन के तीन फेज की समीक्षा

देश में अब तक तीन फेज में 25 मार्च से 14 अप्रैल, 15 अप्रैल से 3 मई और 4 मई से 17 मई तक लॉकडाउन घोषित किया गया था।

पहला फेज: 25 मार्च से 14 अप्रैल तक, यह 21 दिन का रहा। इस दौरान सिर्फ जरूरी सामान की दुकानें खोलने की इजाजत दी गई।

दूसरा फेज: 15 अप्रैल से 3 मई, यह 19 दिन का रहा। हॉटस्पॉट (रेड जोन) को छोड़कर ऑरेंज और ग्रीन जोन में दुकानें खोलने की परमिशन दी गई।

तीसरा फेज: 4 मई से 17 मई, यह 12 दिन का था। हॉटस्पॉट (रेड जोन) को छोड़कर ऑरेंज और ग्रीन जोन में दुकानें खोलने की परमिशन दी गई। इसके अलावा, प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रेनें और बस चलाई गईं। नई दिल्ली से स्पेशल ट्रेनों की भी शुरुआत हुई। वंदे भारत और समुद्र सेतु मिशन के जरिए दूसरे देशों में फंसे भारतीयों की वापसी की शुरुआत हुई।

Read all Latest Post on राष्ट्रीय national in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें
Title: know who was given relief in the new guidelines of lockdown 4 0 in Hindi  | In Category: राष्ट्रीय national

Next Post

वामदल ने केंद्र के आर्थिक पैकेज को आंकड़ों का मायाजाल बताया

Mon May 18 , 2020
आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की पांचवीं किस्त की घोषणा के बाद वामदल ने दी प्रतिक्रिया माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दी आर्थिक पैकेज को वामदलों ने भ्रमित करने वाला और आंकड़ों का मायाजाल बताया नई दिल्ली, 18 मई (एजेंसी)। केंद्र सरकार द्वारा घोषित आर्थिक पैकेज को […]
The Left described the economic package of the Center as a magic mine of data

All Post