Coronavirus : वायरस के खिलाफ लड़ाई के चलते मोदी जी ने महाभारत से की इसकी तुलना

वायरस के खिलाफ लड़ाई के चलते मोदी जी ने महाभारत से की इसकी तुलना
  • कोरोना जैसी महामारी से दूर रहने का अभी यही एकमात्र उपाय है
  • संकट की इस घड़ी में, अस्पतालों में इस समय सफेद कपड़ों में दिख रहा हर व्यक्ति, ईश्वर का ही रूप है
  • यह समृद्ध देश पर भी कहर बरपाती है और गरीब के घर में भी कहर बरपाती है
  • आज कोरोना के खिलाफ जो युद्ध पूरा देश लड़ रहा है, उसमें 21 दिन लगने वाले हैं

नई दिल्ली, 26 मार्च (एजेंसी)। प्रधानमंत्री मोदी जी ने सोशल मीडिया पर जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इस बीमारी में जो बातें सामने आई हैं, उसमें सबसे बड़ी सच्चाई यही है कि ये बीमारी किसी में भेदभाव नहीं करती। यह समृद्ध देश पर भी कहर बरपाती है और गरीब के घर में भी कहर बरपाती है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने सोशल मीडिया पर कोराना वायरस की लड़ाई की तुलना महाभारत के युद्ध से की ।  उन्होंने कहा कि 130 करोड़ महारथियों के बलबूते और सामाजिक दूरी बनाकर एवं घरों में रहकर देश इस युद्ध में जीत हासिल करेगा। उन्होंने आगे कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिनों में जीता गया था। आज कोरोना के खिलाफ जो युद्ध पूरा देश लड़ रहा है, उसमें 21 दिन लगने वाले हैं। हमारा प्रयास है इसे 21 दिन में जीत लिया जाए ।

कोरोना जैसी महामारी से दूर रहने का अभी यही एकमात्र उपाय है

उन्होंने लोगों को से कहा कि नागरिक के रूप में हमें अपने कर्तव्य का पालन करते रहना चाहिए, हमें सामाजिक दूरी बनाने पर ध्यान देना चाहिए। हमें घर में रहना चाहिए और आपस में दूरी बनाए रखना चाहिए। कोरोना जैसी महामारी से दूर रहने का अभी यही एकमात्र उपाय है। मोदी ने कहा कि यहां की व्यस्तता के बावजूद वह वाराणसी के बारे में निरंतर अपने साथियों से अपडेट ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में, काशी सबका मार्गदर्शन कर सकती है, सबके लिए उदाहरण प्रस्तुत कर सकती है प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी का अनुभव शाश्वत, सनातन, समयातीत है। और इसलिए, आज लॉकडाउन की परिस्थिति में काशी देश को संयम, समन्वय, संवेदनशीलता सिखा सकती है। उन्होंने कहा कि ऐसे में जब देश के सामने इतना बड़ा संकट हो, पूरे विश्व के सामने इतनी बड़ी चुनौती हो, तब मुश्किलें नहीं आएंगी सब कुछ अच्छा होगा  ये कहना अपने साथ धोखा करने जैसा होगा। मोदी ने कहा कि अभी नवरात्र शुरू हुआ है। हमें अगले 21 दिन तक, 9 गरीब परिवारों की मदद करने का प्रण लेना है। इसके अलावा आपके आसपास जो पशु हैं, उनकी भी चिंता करनी है प्रधानमंत्री ने कहा कि जो तकलीफें आज हम उठा रहे हैं, जो मुश्किल आज हो रही है, उसकी उम्र फिलहाल 21 दिन ही है। लेकिन अगर कोरोना का संकट समाप्त नहीं हुआ, इसका फैलना नहीं रुका तो कितना ज्यादा नुकसान हो सकता है, इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है।

संकट की इस घड़ी में, अस्पतालों में इस समय सफेद कपड़ों में दिख रहा हर व्यक्ति, ईश्वर का ही रूप है

उन्होंने कहा कि कुछ स्थानों से ऐसी घटनाओं की जानकारी भी मिली है, जिससे हृदय को चोट पहुंची है। कुछ स्थानों से एयरलाइन कर्मियों, डाक्टरों, नर्सो से बुरा बर्ताव करने की खबरें आई हैं। ये घटनाएं छुटपुट हो सकती हैं लेकिन मेरे लिये गंभीर है। ऐसा करने वालों को महंगा पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्होंने संबंधित प्राधिकार से बात की है। मोदी ने कहा कि मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि अगर ऐसी कोई गतिविधि कहीं दिख रही है, कहीं आपको डॉक्टर, नर्स या मेडिकल स्टाफ के साथ कोई बुरा बर्ताव होता दिख रहा हो तो आप ऐसे लोगों को चेतावनी दें, वहां जाकर लोगों को समझाएं। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में, अस्पतालों में इस समय सफेद कपड़ों में दिख रहा हर व्यक्ति, ईश्वर का ही रूप है। आज यही हमें मृत्यु से बचा रहे हैं। अपने जीवन को खतरों में डालकर ये लोग हमारा जीवन बचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज के मन में इन सब के लिए आदर सम्मान का भाव होता ही है। डॉक्टर जिंदगी बचाते हैं और हम उनका ऋण कभी नहीं उतार सकते। मोदी ने कहा कि हमारे समाज में ये संस्कार दिनों-दिन प्रबल हो रहा है, कि जो देश की सेवा करते हैं, जो देश के लिए खुद को खपाते हैं, उनका सार्वजनिक सम्मान भी होते रहना चाहिए।

चालक दल के कर्मियों एवं उनके परिवार के सदस्यों को हरसंभव मदद एवं सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया

प्रधानमंत्री ने इस संबंध में बताया कि बीते कुछ वर्षों में एक परंपरा शुरू हुई है कि हवाई अड्डे पर जब लोग फौज के जवानों को देखते हैं तो उनके सम्मान में खड़े हो जाते हैं, कुछ लोग तालियां भी बजाते हैं। ये आभार प्रकट करने का तरीका हमारे संस्कारों में दिनों बढ़ना ही चाहिए मोदी ने वुहान में बचाव अभियान से जुड़े लोगों को उनके द्वारा लिखे गए पत्र का जिक्र किया और कहा कि यह उनके लिए भावुक पल थे। गौरतलब है कि मंगलवार को कुछ डाक्टरों एवं नर्सो द्वारा कोरोना वायरस के मद्देनजर परेशान किये जाने की खबरें आई थी। इसी प्रकार से नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को एयरलाइन कर्मियों को पड़ोसियों द्वारा परेशान करने की शिकायतों के मद्देनजर संबंधित प्राधिकारियों से चालक दल के कर्मियों एवं उनके परिवार के सदस्यों को हरसंभव मदद एवं सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया। पुरी ने यह आग्रह कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच भारत की दो प्रमुख एयरलाइन इंडिगो और एयर इंडिया की ओर से उनके चालक दल के कर्मियों को पड़ोसियों द्वारा परेशान करने की घटना के मद्देनजर किया।

Read all Latest Post on राष्ट्रीय national in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें
Title: modi ji compared it to mahabharata because of the fight against the virus in Hindi  | In Category: राष्ट्रीय national

Next Post

Coronavirus : मैं समाज का दुश्मन हूँ, मैं घर पर नहीं रह सकता, पुलिस का नायाब तरीका

Thu Mar 26 , 2020
पुलिस ने कई नायाब तरीके खोज निकाले, ताकि लोग लॉकडाउन का महत्व समझ सके नौ लोगों से यातयात सिग्नल के पास उठक बैठक नागिन डांस भी करवा दो भाई नई दिल्ली, 26 मार्च (एजेंसी)। पुरे देश में कोरोना वायरस की रोकथाम के उद्देश्य से लॉकडाउन लागू कर देने के बावजूद […]
मैं समाज का दुश्मन हूँ

All Post