• एक्यूआई का स्तर 442, आरके पुरम में 407, द्वारका में 421 और बवाना में 430 रहा
  • दीपावली पर पटाखे जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया
  • वृद्धों और बच्चे भी प्रदूषण से परेशान हैं

नई दिल्ली। राजधानी के लोगों को शुक्रवार भी प्रदूषण से कोई राहत नहीं मिली। दिल्ली में आज सुबह हवा गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) लगभग सभी क्षेत्रों में 400 को लांघ गया जो ‘गंभीर’ श्रेणी का माना जाता है।

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के अनुसार आनंद विहार में एक्यूआई का स्तर 442, आरके पुरम में 407, द्वारका में 421 और बवाना में 430 रहा। दिल्ली सरकार ने प्रदूषण की विकटता को ध्यान में रखकर दीपावली पर पटाखे जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यह रोक 30 नवंबर तक जारी रहेगी। आसमान में घुएं की चादर और दमघोंटू वायु से सबसे ज्यादा सांस के मरीजों को दिक्कतें हो रही हैं। वृद्धों और बच्चे भी प्रदूषण से परेशान हैं।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, दिल्‍ली के अलावा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद का भी बुरा हाल है और एक्यूआई 400 से अधिक है।

एक्यूआई को शून्य से 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 के 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’’ माना जाता है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें