दिल्ली में विधानसभा चुनाव में हार के बाद जहाँ बीजेपी आत्ममंथन में लगी हुयी है वहीँ जीत का परचम लहराने वाली आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुके हैं । 16 फरवरी को शपथ ग्रहण करने के बाद केजरीवाल के सामने कई चुनौतियों से दो चार होना होगा।

kejriwal kundli 2020 how 5 years will be for kejriwal as chief minister of delhi

ज्योतिषाचार्य के अनुसार इस समय केजरीवाल के लग्न में गुरु की महादशा चल रही है जो कि अगस्त 2020 तक चलती रहेगी और इसके बाद शनि की महादशा शुरू होने वाली है  जिसके दौरान वो देश के अलावा विदेशों में भी लोकप्रियता हासिल करने में सफल होंगे।

kejriwal kundli 2020 how 5 years will be for kejriwal as chief minister of delhi

आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल की कुंडली मेष लग्न की है तथा इस समय शनि मकर राशि में विराजमान हैं। चूँकि कुंडली में इस समय शनि एकदम केंद्र में स्थित हैं अत: उनके ग्रहो की दशा के चलते वो जनता का भरोसा जीतना उनके लिए आसान हो जाता है।

kejriwal kundli 2020 how 5 years will be for kejriwal as chief minister of delhi

आपको जानकारी हैरानी होगी कि अब तक भारत में जितने भी प्रधानमंत्री बने है उन सबकी कुंडली के केंद्र शनि विराजमान थे। इस बात से अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि राजनीति के क्षेत्र में इसे केजरीवाल की शुरुवात माना जा रहा है और अभी उनका भाग्य और चमकने की उम्मीद है।

हालाँकि केजरीवाल के मेष लग्न में नीच का शनि है परन्तु केंद्र में सूर्य और बुध के आदित्य योग के चलते उनकी कुंडली में राजयोग बन रहा है। कुंडली में मंगल और गुरु नवम भाव धनु राशि में है जिसके चलते नीच का मंगल इनके करियर को चार चांद लगाने का काम कर रहा है। चूँकि कुंडली में नीच का मंगल यानी रोजगार का स्वामी बैठा हुआ है अत: वो हनुमान को हमेशा याद करते रहते हैं।

kejriwal kundli 2020 how 5 years will be for kejriwal as chief minister of delhi

जानकारी के लिए बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली वृश्चिक लग्न की है तथा उनकी राशी में लगी शनि की साढ़े साती भी जल्द ही खत्म होने वाली है। ज्योतिषियों ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि मनोज तिवारी की कुंडली में शनि चंद्रमा के साथ विषयोग बना रहा है जिसका परिणाम सबके सामने है। इतना तक कहा गया था कि यदि भारतीय जनता पार्टी डॉक्टर हर्षवर्धन के नेतृत्व में चुनाव लड़ती तो अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते थे और अगर कांग्रेस अजय माकन को मोर्चा संभालने के लिए देते तो जीत के नाम पर उनका भी खाता खुला होता।

 

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें