• 45 वर्षीय दिल्ली के व्यवसायी ने कोरोना से जंग जितने के बाद लिया बड़ा फैसला

  • बेटे के 12वे जन्मदिन पर इस वायरस ने पकड़ बनायीं

  • परिवार की रिपोर्ट नेगेटिव आयी

नई दिल्ली, 23 अप्रैल (एजेंसी)। कोरोना से जंग में हर कोई अपने हिसाब से योगदान दे रहा है ऐसे में दिल्ली के एक व्यवसायी के फैसले की सब तारीफ कर रहे है, दरअसल इस व्यवसायी ने कुछ दिन पूर्व ही कोरोना को मात दी है जिसके बाद इसने फैसला किया है कि ये अपना  प्लाज्मा दान करेंगे ताकि कोरोना के अन्य मरीजों का इलाज संभव हो सके। 45 वर्षीय दिल्ली के व्यवसायी ने अपना नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा था कि वह अपना प्लाज्मा दान करना चाहते हैं ।

बताया कि कैसे उन्होंने हराया कोरोना वायरस को

लेकिन कहा गया कि वह फिलहाल ऐसा करने के पात्र नहीं हैं। व्यवसायी ने कहा कि मैंने इटली जाने से पहले रक्तदान किया था। डॉक्टरों ने कहा है कि मैं तीन महीने के बाद ही रक्तदान कर सकता हूं। जैसे ही सरकार मुझे अनुमति दे देगी, मैं सबसे पहला काम करूंगा प्लाज्मा दान। कोरोना को हराने वाले इन व्यवसायी ने बताया कि उन्होंने पीएम केयर फंड में भी दान किया है। व्यवसायी ने अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि उन्होंने दिल्ली में कोरोना का पहले रोगी बनने के बाद इस वायरस को कैसे हराया। उन्होंने कहा कि मैं उन तारीखों को कभी नहीं भूल सकता। उन्होंने वियना से होते हुए इटली से दिल्ली तक की अपनी उस व्यापारिक यात्रा को याद किया। व्यवसायी ने कहा कि मैं 25 फरवरी को वियना से होते हुए दिल्ली वापस आया। जब मैं विमान से भारत में उतरा तब ठीक था।

मैं एक जिम्मेदार व्यक्ति हूँ

पूछे जाने पर कि विदेश से लौटने के बाद वह एकांतवास में क्यों नहीं गए, व्यवसायी ने कह किमुझे नहीं लगता कि उस समय चीन के अलावा इटली या किसी अन्य देश से आने वाले लोगों के लिए कोई एडवाइजरी जारी की गई थी। हवाईअड्डे पर मेरी स्क्रीनिंग नहीं की गई थी। मुझे पता था कि चीन से आने वाले लोगों के लिए एक यात्रा सलाह जारी की गई है, लेकिन यह ऑस्ट्रिया के लिए नहीं थी। जब मैं इटली में था तब वहां कोई मामला नहीं था। मैंने सोचा, काश मैं वहीं पर रहता और भारत वापस नहीं आया होता। मैं जीवन का जोखिम क्यों उठाता? मगर यहां मेरा अपना परिवार है और मैं एक जिम्मेदार व्यक्ति हूं।

बेटे के 12वे जन्मदिन पर इस वायरस ने पकड़ बनायीं

व्यवसायी ने कहा कि जब मैं 25 फरवरी को नौ बजे के आसपास हवाईअड्डे से अपने निवास पर वापस आया तो मुझे बुखार और गले में खराश थी। मुझे लगा कि यह फ्लू है, इसलिए मैं पास के एक डॉक्टर से मिला। उन्होंने मुझे कुछ दवाइयां दीं। 28 फरवरी को मेरे बेटे का 12वां जन्मदिन था। मैं ठीक महसूस कर रहा था, इसलिए हम एक छोटी सी मिलन (गेट-टुगेदर) पार्टी के लिए होटल हयात गए। इसमें कुछ लोग शामिल थे जिसमें मेरी मां, पत्नी और दो बच्चों के साथ ही मेरे दो दोस्त भी साथ थे। जब मैं घर वापस आया तो मैं फिर बुखार की जकड़ में आ चुका था।

पॉजिटिव पाए जाने पर सफदरजंग अस्पताल में रखा गया

व्यवसायी ने आगे कहा कि अगले दिन 29 फरवरी को मैं और मेरी पत्नी सीधे राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल गए और कोरोनावायरस जांच के लिए अनुरोध किया। उस समय तक इटली भी यात्रा प्रतिबंधों के दायरे में आ गया था और मुझे बुखार के साथ मेरी यात्रा का इतिहास भी था। इसलिए उन्होंने तुरंत अस्पताल में मुझे अलग (आइसोलेट) कर दिया। इसके बाद एक मार्च को मेरी रिपोर्ट में बताया गया कि मैं कोरोना पॉजिटिव हूं। इसके बाद मुझे सफदरजंग अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। मैं बहुत डर गया था, लेकिन मेरे डॉक्टर ने मुझे बताया कि मैं ठीक हो जाऊंगा।

परिवार की रिपोर्ट नेगेटिव आयी

जब डॉक्टर ने व्यवसायी से उनके संपर्क में आए लोगों के बारे में पूछा तो वह घबरा गए। क्योंकि वह अपनी पत्नी, दो बच्चों और बुजुर्ग मां के साथ रहते थे। उन्होंने अपनी आंखों में उमड़े आंसू को थामते हुए कहा कि मेरे परिवार के सदस्यों को भी जांच के लिए जाना था, लेकिन मेरे संपर्क में आए मेरे परिवार, दोस्तों और कर्मचारियों सहित हर व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव आई, जिसके बाद मुझे राहत मिली और तब मैं खुद को कम दोषी महसूस करने लगा। शारीरिक पीड़ा के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि मैं खांसी और शरीर में दर्द से पीड़ित था। सफदरजंग अस्पताल में मिली सुविधा मेरी उम्मीदों से परे थी। वहां काफी साफ-सफाई थी और डॉक्टर समय पर आ रहे थे। भोजन और अन्य सुविधाएं भी अच्छी थीं। मेरे पास स्वास्थ्य मंत्री की वीडियो कॉल आई। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने मेरे स्वास्थ्य के बारे में पूछा है। यह बात मेरे दिल को छू गई।

दिल्ली के इस व्यवसायी ने अब पूरी तरह से कोरोना से निजात पा ली है और वह एक सामान्य जीवन जी रहे हैं। उन्होंने लोगों को इन दिनों पर्याप्त सावधानी बरतने और सकारात्मक सोच बनाए रखने का सुझाव दिया है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें