• रैना के बुआ के परिवार पर हुए हमले व लूट की गुत्थी सुलझी

  • इस मामले में पंजाब पुलिस ने राजस्थान के तीन लोगों को गिरफ्तार किया

  • इस घटना के मास्टर माइंड सहित 11 लोग अभी भी फरार

पठानकोट 16 सितम्बर (एजेंसी) पठानकोट के थरियाल गांव स्थित क्रिकेटर सुरेश रैना के बुआ के परिवार पर हुए हमले व लूट की गुत्थी को पठानकोट पुलिस ने सुलझा दिया है, जिसके चलते पंजाब पुलिस ने राजस्थान के तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही साथ लूट का सामान भी बरामद कर लिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तीन आरोपी गिरफ्तार हो चुके है, हालाँकि इस मामले के मास्टर माइंड सहित 11 लोग अभी भी फरार चल रहे हैं। पकड़े गए तीनों आरोपी राजस्थान के झुंझनू के रहने वाले हैं। इस मामले की जानकारी एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना ने मिनी सचिवालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

पुलिस के अनुसार इस वारदात में तीन महिलाओं के अलावा जगराओं, पठानकोट और लुधियाना के तीन लोग शामिल हैं। इनके अलावा सभी आरोपी झुंझनू के रहने वाले हैं लेकिन वर्तमान में ये लोग चीरावा और पिलानी नामक कस्बों में झुग्गियां बनाकर रह रहे थे। सभी गैंग बनाकर रात के समय डकैती डालते हैं। पकड़े गए आरोपियों से पुलिस ने दो अंगूठियां, एक चेन और 1530 रुपये बरामद किए हैं। बता दे कि पुलिस इस मामले में 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है।

इस मामले में एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना ने बताया कि आरोपी सावन उर्फ मैचिंग ने पूछताछ में बताया कि वह अपने गैंग के अन्य सदस्यों के साथ 12 अगस्त को चिरावा और पिलानी से ऑटो में पठानकोट को रवाना हुए। गैंग में नौसो उर्फ इस्लाम, रशीद उर्फ चलदा फिरदा, रेहान उर्फ सोनू, सभी निवासी जिला झुंझनू, महिला जुबराना निवासी पिलानी, महिला वाफीला और तवज्जल बीबी व एक अन्य व्यक्ति निवासी चिरावा, शाहरुख खान उर्फ लुकमान शामिल थे।

इसके बाद गैंग के सभी सदस्य जगराओ पहुंचे। यहां से उनके साथ रिंडा उर्फ काजम, उसका बेटा गोलू और साजन उर्फ आमिर भी उनके साथ हो गए। लुधियाना से ही इन्होंने एक हॉर्डवेयर की दुकान से आरी, प्लास, पेचकस और कुछ कपड़े खरीदे। 14-15 की रात उन्होंने जगराओं में एक वारदात को अंजाम दिया और पठानकोट रवाना हो गए। यहां पहुंचकर उन्हें पठानकोट निवासी संजू उर्फ छज्जू मिला, जो पहले ही इलाके की रेकी कर चुका था। सावन ने पूछताछ में बताया कि छज्जू ने रशीद, नौसो, जुबराना, वाफीला और तवज्जल बीबी से माधोपुर और थरियाल में रेकी करवाई। छज्जू पहले से ही इस इलाके को काफी अच्छे से जानता था। 19 की रात 8 बजे उन्होंने रैना के फूफा की कोठी और आसपास के 2-3 घरों को टारगेट बनाने की प्लानिंग की।

तीन ग्रुप में बंटे आरोपियों ने सफेदे के पेड़ से मोटी लाठियां बनाईं और पास की ही एक शटरिंग की दुकान पर पहुंचे। जहां से वह बंधे सीढ़ियों के गट्ठे से एक सीढ़ी चुरा लाए। इसके बाद आरोपियों ने पहले घर के सामने सीढ़ी लगाई तो टाइलों के गोदाम में जा पहुंचे। इसके बाद दूसरे घर की दीवार पर सीढ़ी लगाकर चढ़े तो वह खाली निकला। तीसरे घर में पीछे की ओर से सीढ़ी लगाकर छत पर चढ़ते ही उन्हें सो रहे रैना के फूफा अशोक, कौशल और बुआ आशा दिखी। आरोपी नौसो, रशीद, शाहरुख खान, साजन और रिंडा इनके सिर पर डंडों से ताबड़तोड़ वार करने लगे। इसके बाद ये लोग सीढ़ियों से नीचे उतरे और अंदर कमरे में सो रहे अपिन और सत्या देवी पर टूट पड़े। इसके बाद आरोपी लूट को अंजाम देकर वहां से फरार हो गए। सभी ने बैगों में भरे सामान, नकदी और गहनों को एक खुली जगह पर जाकर बांटा।

वारदात के बाद सभी ग्रुपों में बंट गए। जिसके बाद साजन, रिंडा और गोलू जगराओं चले गए। नौसो, रशीद, रेहान, जुबराना, वाफिला और तवज्जल बीबी राजस्थान की ओर निकल गए। सावन ने बताया कि वह मोहब्बत और शाहरुख खान के साथ यहीं रुक गया। बाकी लोगों ने उन्हें कहा कि वह यहीं पर रहकर और शिकार ढूंढें वह एक महीने बाद फिर आकर वारदात करेंगे। एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना ने कहा कि 11 लोग फरार हैं, उनकी धरपकड़ की जा रही है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें