• ज्योतिरादित्य सिधिंया ने बीस किलोमीटर लंबा किया रोड शो
  • सिंधिया के भोपाल पहुंचने पर शिवराज सिंह चौहान ने किया स्वागत
  • राहुल गांधी ने कहा कि सिधिंया को भाजपा में न इज्जत मिलेगी न संतुष्टि

भोपाल, 12 मार्च (एजेंसी)। भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल पहुंचे। यहां पहुंचकर सिंधिया ने शहर में रोड शो किया। शाम 5 बजे एयरपोर्ट से शुरू हुआ 20 किलोमीटर लंबा रोड शो 6.30 बजे भाजपा कार्यालय पहुंचा। यहां उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय, कुशाभाऊ ठाकरे, राजमाता सिंधिया और माधवराव सिंधिया की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया।

मेरे लिए बहुत भावुक पल

यहां सिंधिया ने कहा- आज मेरे लिए बहुत भावुक पल है। मैं अपने आप को सौभाग्यशाली समझता हूं कि नड्डा साहब, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी, गृहमंत्री अमित शाह के आशीर्वाद से इस परिवार के द्वार मेरे लिए खोले गए। जिस संगठन में, जिस परिवार में मैंने 20 साल बिताए, मेहनत-लगन-संकल्प और खून-पसीने की बूंद बहाई, उसे छोड़कर मैं खुद को आपको समर्पित कर रहा हूं।

हमारा लक्ष्य सिर्फ जनसेवा

भाजपा कार्यालय में सिंधिया बोले- दो तरीके के लोग हैं इस देश में। कइयों का मकसद राजनीति होता है और कइयों का मकसद जनसेवा होता है। मैं गर्व से कह सकता हूं कि अटलजी रहे हों या नरेंद्र मोदीजी हों, चाहे सिंधिया परिवार की सदस्य मेरी दादी राजमाता विजयाराजे सिंधिया रही हों, मेरे पूज्य पिताजी हों या मैं फिर मैं… हमारा लक्ष्य जनसेवा है और राजनीति उसका माध्यम है।

कुर्सी और पद महत्वपूर्ण नहीं

सिंधिया ने कहा- हमारे लिए कुर्सी और पद महत्वपूर्ण नहीं होना चाहिए। केवल सम्मान और पहचान के साथ मैं आपके हृदय में स्थान पा सकूंगा तो अपने जीवन को सफल मानूंगा। आज शिवराज सिंह जी ने बहुत कुछ कहा। मौजूदा सरकार के बारे में और इतनी रंगीन शैली में कहा कि उसका मुकाबला ज्योतिरादित्य सिंधिया शायद ही कर पाए। दिसंबर 2018 में मुकाबला हुआ था, लेकिन आज हम एक साथ हैं। दल अलग हो सकते हैं, राजनीतिक रंग अलग हो सकते हैं, मतभेद हो सकते हैं, लेकिन पक्ष और विपक्ष के बीच कभी मनभेद नहीं होना चाहिए। विपक्ष में बैठकर भी शिवराज सिंह जैसा समर्पित और जनता के प्रति सबकुछ न्योछावर करने वाला कार्यकर्ता इस देश और प्रदेश में बिरला ही होगा।

खून की जरूरत होगी तो बहा दुंगा

अपने परिवार के सियासी सफर पर सिंधिया ने कहा, “जिस दल को पसीने और पूंजी के साथ मेरी दादी ने स्थापित किया। 36 साल की उम्र में पहली बार जनसेवा का लक्ष्य बनाकर मेरे पिताजी चले, आज उसी दिल में ज्योतिरादित्य सिंधिया ये अपना दिल लेकर आया है। कार्यकर्ताओं से कहना चाहता हूं कि आपके दिल में स्थान पाना ज्योतिरादित्य के जीवन का लक्ष्य होगा। विश्वास दिलाना चाहता हूं कि जहां आपका एक बूंद पसीना टपकेगा, वहां 100 बूंद पसीना टपकाऊंगा और अगर खून की जरूरत होगी तो वह भी बहाऊंगा।”

शिवराज सिंह चौहान ने किया स्वागत

भाजपा कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंधिया का स्वागत किया। वे भाजपा कार्यालय में ही कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं। इसके बाद वे ग्वालियर-चंबल संभाग से आए अपने समर्थकों से मुलाकात करेंगे। रोड शो के दौरान जिला कांग्रेस कार्यालय के दफ्तर के पास कांग्रेसियों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की।

समर्थकों ने किया स्वागत

सिंधिया शाम को करीब 4.45 बजे भोपाल पहुंचे थे। एयरपोर्ट पर बड़ी तादाद में भाजपा कार्यकर्ता और समर्थकों ने उनका स्वागत किया। समर्थक अपने साथ ज्योतिरादित्य और उनके पिता माधवराव सिंधिया के पोस्टर भी लाए। रोड शो में कार्यकर्ताओं की भीड़ देखकर सिंधिया काफी खुश नजर आए। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा- लोगों का स्नेह मेरी पूंजी है। इस बीच, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सिंधिया पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि सिंधिया अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर डरे हुए थे और वे इसीलिए विचारधारा को जेब में रखकर आरएसएस के साथ चले गए।

यह विचारधारा की लड़ाई है : राहुल गांधी

सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने पर राहुल गांधी ने कहा, ”यह विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ कांग्रेस की विचारधारा है और दूसरी तरफ आरएसएस-भाजपा की विचारधारा है। ज्योतिरादित्य सिंधिया की विचारधारा मुझे पता है, लेकिन वे सियासी भविष्य को लेकर डरे हुए थे। वे मेरे मित्र हैं और मैं उनकी विचारधारा को जानता हूं। उन्होंने इसे अपनी जेब में रख लिया और आरएसएस के साथ चले गए। लेकिन, सच्चाई यह है कि वहां पर उन्हें न इज्जत मिलेगी, न ही उन्हें संतुष्टि मिलेगी। मेरी उनसे पुरानी दोस्ती है। सिंधिया जी के दिल में जो है, वो जुबान पर नहीं है।”

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने की नारेबाजी

रोड शो के दौरान रोशनपुरा चौराहे पर जवाहर भवन के सामने कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिंधिया के विरोध में नारेबाजी की। जवाहर भवन में जिला कांग्रेस का कार्यालय है। इससे पहले, गुरुवार सुबह सीएम हाउस के पास पॉलिटेक्निक चौराहे पर सिंधिया के स्वागत में लगे पोस्टरों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने काला रंग डाल दिया और उन्हें फाड़ भी दिया। बताया जा रहा है कि सिंधिया का यह पोस्टर मुख्यमंत्री कमलनाथ के पोस्टर के ऊपर लगाया गया था।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें