• मौजपुर से मजलिस पार्क कॉरिडोर पर जून 2023 से मेट्रो का परिचालन शुरू होगा

  • कॉरिडोर के पूरा होते ही रिंग मेट्रो लाइन भी पूरी हो जाएगी

  • यह दिल्ली के लगभग सभी इलाकों यानि यमुनापार से लेकर उत्तरी, दक्षिणी, दक्षिणी पूर्व, पश्चिमी दिल्ली समेत दूसरे सभी मेट्रो लाइन को भी इंटरचेंज स्टेशन के जरिए जोड़ेगा

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (एजेंसी)। मेट्रो फेज-4 में सबसे पहले मौजपुर से मजलिस पार्क कॉरिडोर पर जून 2023 से मेट्रो का परिचालन शुरू होगा। इस कॉरिडोर के पूरा होते ही रिंग मेट्रो लाइन भी पूरी हो जाएगी। दिल्ली की पिंक लाइन अभी मजलिस पार्क से शिव विहार तक है। इसी लाइन पर पड़ने वाले मौजपुर से मजलिस पार्क के बीच 12 किलोमीटर से अधिक लंबा कॉरिडोर फेज चार के तहत बनाया जा रहा है, जिसके बाद यह मेट्रो लाइन एक रिंग की तरह दिखेगी। यह दिल्ली के लगभग सभी इलाकों यानि यमुनापार से लेकर उत्तरी, दक्षिणी, दक्षिणी पूर्व, पश्चिमी दिल्ली समेत दूसरे सभी मेट्रो लाइन को भी इंटरचेंज स्टेशन के जरिए जोड़ेगा।

2025 तक सभी तीन कॉरिडोर पूरे होंगे

दिल्ली मेट्रो ने फेज चार के तीन कॉरिडोर को डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट में 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है। मेट्रो ने अगले पांच साल की जो कार्ययोजना तैयार की है, उसमें वर्ष वार और सेक्शन के अनुसार बताया है कि कौन सा कॉरिडोर किस वर्ष में खुलेगा। जैसे जून 2023 में मौजपुर से मजलिस पार्क, जून 2024 तक जनकपुरी पश्चिम से आरके आश्रम कॉरिडोर और आखिरी में मार्च 2025 तक एरोसिटी से तुगलकाबाद कॉरिडोर पर परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

मौजपुर से मजलिस पार्क रूट पर ऊपर मेट्रो नीचे फ्लाईओवर

इस कॉरिडोर की पूरी लाइन एलिवेटेड है। इस कॉरिडोर में यमुना पर 550 मीटर लंबा पुल भी बनेगा। इसके साथ ही भजनपुरा से यमुना विहार के बीच डबल डेकर वायडक्ट भी बनेगा, मतलब मेट्रो का जो पिलग होगा, उसी पर ऊपर मेट्रो, नीचे फ्लाईओवर होगा। यानि इस सड़क पर तीन लेयर की यातायात व्यवस्था होगी। सबसे ऊपरी डेक यानि मेट्रो लाइन का वायाडक्ट जमीन से 18.5 मीटर की ऊंचाई पर होगा, जबकि उसके नीचे जो फ्लाइओवर या एलिवेटेड सड़क बनेगी वह सड़क की सतह से 9.5 मीटर की ऊंचाई पर होगी। अगर सब ठीक रहा तो यह दिल्ली का पहला डबल डेक वाली मेट्रो लाइन के साथ तीन लेयर यातायात वाली सड़क भी होगी।

कॉरिडोर से इन इलाकों को फायदा

इस लाइन के बनने से उत्तरी पूर्वी दिल्ली के खजूरी खास, यमुना विहार, शिव विहार, श्रीराम कॉलोनी, करावल नगर, भजनपुरा व अन्य इलाकों को सीधा फायदा होगा। रिंग मेट्रो पूरा होने से दिल्ली के किसी भी हिस्से में आवाजाही आसान होगी, जिसका फायदा पूरी दिल्ली को मिलेगा।

  • 12.55 किलोमीटर होगी कॉरिडोर की कुल लंबाई।
  • 08 मेट्रो स्टेशन होंगे।
  • 02 इंटरचेंज स्टेशन बनेंगे।
  • 1030 करोड़ की लागत आएगी।

स्टेशन के नाम:

  • बुराड़ी क्रांसिग,
  • जगतपुर गांव,
  • सोनिया विहार सूरघाट,
  • खजूरी खास,
  • भजनपुरा,
  • यमुना विहार और मौजपुर

रिंग मेट्रो लाइन पर

  • 73 किलोमीटर की लाइन होगा।
  • 44 मेट्रो स्टेशन होंगे
  • 11 से अधिक इंटरचेंज होगा।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें