अदम गोंडवी हिंदी गजल : चाँद है ज़ेरे क़दम, सूरज खिलौना हो गया  

Adam Gondvi Hindi Gazal Chand hai jere kadam suraj khiloana hao gaya

चाँद है ज़ेरे क़दम. सूरज खिलौना हो गया

हाँ, मगर इस दौर में क़िरदार बौना हो गया


शहर के दंगों में जब भी मुफलिसों के घर जले

कोठियों की लॉन का मंज़र सलौना हो गया

ढो रहा है आदमी काँधे पे ख़ुद अपनी सलीब

ज़िन्दगी का फ़लसफ़ा जब बोझ ढोना हो गया

यूँ तो आदम के बदन पर भी था पत्तों का लिबास

रूह उरियाँ क्या हुई मौसम घिनौना हो गया

‘अब किसी लैला को भी इक़रारे-महबूबी नहीं’

इस अहद में प्यार का सिम्बल तिकोना हो गया.

अदम गोंडवी की अन्य गजल

 


Read all Latest Post on गजल ghazal in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: adam gondvi hindi gazal chand hai jere kadam suraj khiloana hao gaya in Hindi  | In Category: गजल ghazal

Next Post

आखिर 1 मिनट में 50 लाल मिर्च क्यों खा रहे है चीन के युवक, वीडियो देखें

Mon Jul 16 , 2018
आज कल एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है, जिसमे बहुत सारे युवक लाल मिर्च खाते हुए नज़र आ रहे हैं। आखिर क्या है मामला, इतने सारे लोग इतनी अधिक मिर्च क्यों खा रहे है ? दरअसल चीन के हुआन प्रांत में होने वाली एक अनोखी प्रतियोगिया के बारे में […]
A chilli-eating competition held in China sees its winner eat 50 chillies in one minuteA chilli-eating competition held in China sees its winner eat 50 chillies in one minute

All Post


Leave a Reply

error: खुलासा डॉट इन khulasaa.in, वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट के अधीन हैं। यदि कोई संस्था या व्यक्ति, इसमें प्रकाशित किसी भी अंश ,लेख व चित्र का प्रयोग,नकल, पुनर्प्रकाशन, खुलासा डॉट इन khulasaa.in के संचालक के अनुमति के बिना करता है , तो यह गैरकानूनी व कॉपीराइट का उल्ल्ंघन है। यदि कोई व्यक्ति या संस्था करती हैं तो ऐसा करने वाला व्यक्ति या संस्था पर खुलासा डॉट इन कॉपी राइट एक्त के तहत वाद दायर कर सकती है जिसका सारे हर्जे खर्चे का उत्तरदायी भी नियम का उल्लघन करने वाला व्यक्ति होगा।