अदम गोंडवी हिंदी गजल : वेद में जिनका हवाला हाशिये पर भी नहीं  

Adam Gondvi Hindi Gazal Ved mai Jinka hawala hashiye par bhi nahi

वेद में जिनका हवाला हाशिये पर भी नहीं

वे अभागे आस्था विश्वास लेकर क्या करें


लोकरंजन हो जहां शम्बूक-वध की आड़ में

उस व्यवस्था का घृणित इतिहास लेकर क्या करें

कितना प्रतिगामी रहा भोगे हुए क्षण का इतिहास

त्रासदी, कुंठा, घुटन, संत्रास लेकर क्या करें

बुद्धिजीवी के यहाँ सूखे का मतलब और है

ठूंठ में भी सेक्स का एहसास लेकर क्या करें

गर्म रोटी की महक पागल बना देती मुझे

पारलौकिक प्यार का मधुमास लेकर क्या करें

 


 

अदम गोंडवी की अन्य गजल

 

Read all Latest Post on गजल ghazal in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: adam gondvi hindi gazal ved mai jinka hawala hashiye par bhi nahi in Hindi  | In Category: गजल ghazal

Next Post

अदम गोंडवी हिंदी गजल : ग़ज़ल को ले चलो अब गाँव के दिलकश नज़ारों में  

Sat Jul 14 , 2018
न महलों की बुलंदी से न लफ़्ज़ों के नगीने से तमद्दुन में निखार आता है घीसू के पसीने से कि अब मर्क़ज़ में रोटी है,मुहब्बत हाशिये पर है उतर आई ग़ज़ल इस दौर मेंकोठी के ज़ीने से अदब का आइना उन तंग गलियों से गुज़रता है जहाँ बचपन सिसकता है […]
Adam Gondvi Hindi Gazal Gazal ko le chalo ab Gaun ke dilkash nazaaro maiAdam Gondvi Hindi Gazal Gazal ko le chalo ab Gaun ke dilkash nazaaro mai

All Post


Leave a Reply

error: खुलासा डॉट इन khulasaa.in, वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट के अधीन हैं। यदि कोई संस्था या व्यक्ति, इसमें प्रकाशित किसी भी अंश ,लेख व चित्र का प्रयोग,नकल, पुनर्प्रकाशन, खुलासा डॉट इन khulasaa.in के संचालक के अनुमति के बिना करता है , तो यह गैरकानूनी व कॉपीराइट का उल्ल्ंघन है। यदि कोई व्यक्ति या संस्था करती हैं तो ऐसा करने वाला व्यक्ति या संस्था पर खुलासा डॉट इन कॉपी राइट एक्त के तहत वाद दायर कर सकती है जिसका सारे हर्जे खर्चे का उत्तरदायी भी नियम का उल्लघन करने वाला व्यक्ति होगा।