• मझगांव अदालत ने फिल्‍म के राइटर को समन भेजा
  • फिल्‍म के विरोध में महाराष्‍ट्र विधानसभा में भी चर्चा हुई
  • गंगूबाई की फैमिली के साथ कभी शाह को नहीं देखा गया

मुंबई, 25 मार्च (एजेंसी)। संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘गंगूबाई काठ‍ियावाड़ी’ की मुश्‍क‍िलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। लगातार विरोध के बीच मुंबई की मझगांव अदालत ने आलिया भट्ट, संजय लीला भंसाली और फिल्‍म के राइटर को समन भेजा है और हाजिर होने के आदेश दिए हैं। मुंबई की एक चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्‍ट्रेट ने सभी को 21 मई को कोर्ट में हाजिर होने के लिए कहा है।

बीते दिनों फिल्‍म के विरोध में महाराष्‍ट्र विधानसभा में भी चर्चा हुई थी। कांग्रेस विधायक अमीन पटेल ने फिल्‍म के नाम का विरोध किया था। ताजा मामले में मजिस्‍ट्रेट ने यह समन क्रिमिनल मानहानि केस के तहत भेजा है। बाबू रावजी शाह नाम के एक शख्स ने मानहानि का यह केस दर्ज करवाया था। बाबू रावजी का दावा है कि वह गंगूबाई के गोद लिए हुए बेटे हैं। याचिकाकर्ता का कहना है कि फिल्‍म के कारण उनके परिवार की बदनामी हो रही है।

बाबू रावजी का कहना है कि हुसैन जैदी की किताब ‘माफिया क्‍वीन्‍स ऑफ मुंबई’ में लिखी बातें सच नहीं हैं। ऐसे में संजय लीला भंसाली ने झूठे तथ्‍यों को आधार बनाकर फिल्‍म का निर्माण किया है। ऐसे में उन्‍होंने फिल्‍म के निर्देशक के साथ ही उपन्‍यास के लेखक के ख‍िलाफ भी मानहानि का दावा किया है। बाबू रावजी इससे पहले सेशंस कोर्ट भी गए थे। उन्‍होंने वहां फिल्‍म के प्रोमो और ट्रेलर पर रोक लगाने की मांग की थी। कोर्ट ने उनकी गुहार को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं किया जा सकता है, क्‍योंकि किताब 2011 में रिलीज हुई थी और वह अब 2020 में श‍िकायत दर्ज करवा रहे हैं।

‘आजतक’ की रिपोर्ट के मुताबिक, कोर्ट ने हालांकि यह बात जरूर मानी थी कि बाबू रावजी शाह और उनके परिवार को किताब और प्रोमो की वजह से मानसिक परेशानी से गुजरना पड़ा है। शाह ने इस बाबत 11 दिसंबर 2020 को नागपाड़ा थाने में श‍िकायत दर्ज करवाई थी। श‍िकायत के बाद सभी आरोपियों को नोटिस भी जारी किया गया, लेकिन सिर्फ एक आरोपी ने इसका जवाब दिया था।

दिलचस्‍प बात यह भी है कि बाबू रावजी शाह इस बात का कोई सबूत नहीं दे पाए थे कि वह वाकई गंगूबाई के गोद लिए हुए बेटे हैं। फिल्‍म के मेकर्स और लेखकों ने यह बात सामने रखी कि कैसे गंगूबाई की फैमिली के साथ कभी शाह को नहीं देखा गया है। सेशंस कोर्ट में अपनी दलील खारिज होने के बाद बाबू रावजी शाह ने क्रिमिनल ऐक्‍शन में फिल्‍म मेकर्स और लेखकों के ख‍िला। मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

इस बीच, संजय लीला भंसाली के कोविड-19 नेगेटिव आने के बाद दोबारा मुंबई फिल्‍म की शूटिंग शुरू हो गई है। फिल्‍म का टीजर पहले ही आ चुका है, जिसे खूब पसंद किया गया है। फिल्‍म में आलिया भट्ट के साथ अजय देवगन और इमरान हाशमी भी नजर आएंगे। यह फिल्‍म 60 के दशक में मुंबई के काठ‍ियावाड़ इलाके में गंगूबाई के धमक की कहानी है। गंगूबाई कोठा चलाती थीं। वह उस दौर में मुंबई अंडरवर्ल्‍ड में भी अपनी साख रखती थीं। गंगूबाई मूल रूप से गुजरात की रहने वाली थीं, जिन्‍हें उनके पति ने 500 रुपये में कोठे पर बेच दिया था।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें