• सनराइजर्स के सामने 155 रन के लक्ष्य के सामने अपने दो प्रमुख बल्लेबाज शुरू में ही गंवा दिये 
  • पांडे ने 47 गेंदों पर चार चौकों और आठ छक्कों की मदद से नाबाद 83 रन बनाये
  • वार्नर ने दूसरी स्लिप में कैच दिया तो बेयरस्टॉ के पास उनकी इनस्विंगर का कोई जवाब नहीं था

दुबई। मनीष पांडे की आकर्षक पारी और विजय शंकर के साथ उनकी अटूट शतकीय साझेदारी से सनराइजर्स हैदराबाद ने गुरुवार को यहां राजस्थान रॉयल्स को आठ विकेट से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें बनाये रखी।

सनराइजर्स के सामने 155 रन के लक्ष्य के सामने अपने दो प्रमुख बल्लेबाज शुरू में ही गंवा दिये थे लेकिन पांडे ने 47 गेंदों पर चार चौकों और आठ छक्कों की मदद से नाबाद 83 रन बनाये। उन्होंने और शंकर (51 गेंदों पर नाबाद 52) ने समझदारी भरी बल्लेबाजी करते हुए तीसरे विकेट के लिये 140 रन जोड़कर अपनी टीम को 18.1 ओवर में दो विकेट पर 156 रन तक पहुंचाया। सनराइजर्स की यह दस मैचों में चौथी जीत है और उसके रॉयल्स के समान आठ अंक हो गये हैं। रॉयल्स ने हालांकि उससे एक मैच अधिक खेला है और इसलिए प्लेऑफ की उसकी राह अधिक मुश्किल हो गयी है।

रॉयल्स के अधिकतर बल्लेबाजों ने क्रीज पर पर्याप्त समय बिताने के बाद विकेट गंवाया और वह आखिर में छह विकेट पर 154 रन तक ही पहुंच पाया। उसकी तरफ से संजू सैमसन (26 गेंदों पर 36) ने सर्वाधिक रन बनाये जबकि बेन स्टोक्स ने 32 गेंदों पर 30 रन की संघर्षपूर्ण पारी खेली। वर्तमान सत्र में अपना पहला मैच खेल रहे जैसन होल्डर ने सनराइजर्स की तरफ से 33 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि राशिद (20 रन देकर एक) और विजय शंकर (तीन ओवर में 15 रन, एक विकेट) ने कसी गेंदबाजी करके उनका पूरा साथ दिया।

इसके बाद जोफ्रा आर्चर (21 रन देकर दो) ने डेविड वार्नर (चार) और जॉनी बेयरस्टॉ (10) को लगातार ओवरों में आउट करके सनराइजर्स का स्कोर दो विकेट पर 16 रन कर दिया था। वार्नर ने दूसरी स्लिप में कैच दिया तो बेयरस्टॉ के पास उनकी इनस्विंगर का कोई जवाब नहीं था। पांडे हावी होकर खेलने की स्पष्ट मानसिकता के साथ मैदान पर उतरे थे। आर्चर के आक्रमण से हटने के बाद स्टोक्स और कार्तिक त्यागी पर दो – दो छक्के जड़कर उन्होंने पावरप्ले में स्कोर 58 रन पर पहुंचाया। जब स्पिनर दबाव बना रहे थे तब उन्होंने श्रेयस गोपाल पर छक्का लगाया और 28 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। स्टीव स्मिथ ने आर्चर को दूसरे स्पैल के लिये तब बुलाया जब बल्लेबाज क्रीज पर पांव जमा चुके थे। आर्चर ने डैथ ओवरों से पहले अपना कोटा पूरा कर दिया।

उनके आखिरी ओवर में शंकर ने लगातार तीन चौके लगाये। त्यागी का अपनी गेंदों पर नियंत्रण नहीं था और पांडे ने लगातार उन्हें इस गलती की सजा भी दी। उन्होंने स्टोक्स की गेंद भी छह रन के लिये भेजी जबकि शंकर ने त्यागी पर विजयी चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। इससे पहले रोबिन उथप्पा (13 गेंदों पर 19) अच्छी लय में दिख रहे थे लेकिन बेमतलब का रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गये। दूसरे सलामी बल्लेबाज स्टोक्स की टाइमिंग सही नहीं थी और उनके संघर्ष को देखकर लग रहा था कि वह पारी का आगाज करने का लुत्फ नहीं उठा रहे हैं।

तीन अवसरों पर वह आउट होने से बचे और आखिर में राशिद ने लेग ब्रेक पर उन्हें बोल्ड किया। पिछले मैचों में नाकाम रहने वाले सैमसन के संदीप शर्मा पर लगाये गये दोनों चौके दर्शनीय थे। इसके बाद उन्होंने होल्डर की गेंद पर लेंथ का अच्छी तरह से अनुमान लगाकर खूबसूरत छक्का जड़ा। होल्डर ने तुरंत रणनीति बदली और अगली गेंद ऑफकटर की जिस पर सैमसन चूककर बोल्ड हो गये। राशिद और विजय शंकर ने बीच के ओवरों में बल्लेबाजों को बांधे रखा।

पहले छह ओवरों में 47 रन बने थे लेकिन रॉयल्स 15वें ओवर में तिहरे अंक में पहुंचा। सैमसन और स्टोक्स के एक ही स्कोर पर आउट होने के बाद जोस बटलर (12 गेंदों पर नौ) पर निगाहें टिकी थी लेकिन वह भी किसी समय सहज नहीं दिखे। शंकर ने उन्हें प्वाइंट पर कैच आउट कराया। होल्डर ने 19वें ओवर में कप्तान स्टीव स्मिथ (15 गेंदों पर 19) और रियान पराग (12 गेंदों पर 20) को सीमा रेखा पर कैच करवाया। जोफ्रा आर्चर ने आखिर में सात गेंदों पर कीमती 16 रन बनाये जिसमें नटराजन की आखिरी गेंद पर लगाया गया छक्का भी शामिल है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें