• धोनी ने 36 गेंदों में नाबाद 47 रन बनाये 
  • धोनी की धीमी बल्लेबाजी टीम को आखिर में भारी पड़ गयी
  • हैदराबाद की चार मैचों में यह दूसरी जीत है जबकि चेन्नई को चार मैचों में तीसरी हार का सामना करना पड़ा

दुबई। चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आखिरी ओवरों में करिश्मा नहीं कर पाए और सनराइजर्स हैदराबाद ने चेन्नई से आईपीएल मुकाबला शुक्रवार को सात रन से जीत लिया और टूर्नामेंट में अपनी दूसरी जीत दर्ज कर ली। हैदराबाद ने युवा बल्लेबाजों प्रियम गर्ग (नाबाद 51) और अभिषेक शर्मा (31) की शानदार बल्लेबाजी तथा उनके बीच पांचवें विकेट के लिए 77 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की बदौलत 20 ओवर में पांच विकेट पर 164 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया।

रवींद्र जडेजा ने 50 रन और कप्तान धोनी ने नाबाद 47 रन बनाये लेकिन चेन्नई की टीम पांच विकेट पर 157 रन तक ही पहुंच सकी। धोनी ने 36 गेंदों में नाबाद 47 रन बनाये लेकिन मैच को अंत में फिनिश नहीं कर पाए और उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा। धोनी की धीमी बल्लेबाजी टीम को आखिर में भारी पड़ गयी। हैदराबाद की चार मैचों में यह दूसरी जीत है जबकि चेन्नई को चार मैचों में तीसरी हार का सामना करना पड़ा। सनराइजर्स के कप्तान डेविड वार्नर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। हैदराबाद ने अपने चार विकेट मात्र 69 रन तक गंवा दिए थे लेकिन 19 साल के प्रियम और 20 साल के अभिषेक ने पांचवें विकेट के लिए मात्र 43 गेंदों पर 77 रन की शानदार साझेदारी कर टीम को लड़ने लायक स्कोर तक पहुंचा दिया जो अंत में मैच विजयी साबित हुआ। उत्तर प्रदेश के मेरठ के युवा बल्लेबाज प्रियम ने आईपीएल में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने अपनी पारी में कई बेहतरीन शॉट लगाए। प्रियम ने पारी के 17वें ओवर में तेज गेंदबाज सैम करेन की गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का उड़ाते हुए 22 रन बटोरे। प्रियम ने 26 गेंदों पर नाबाद 51 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया।

वह हैदराबाद की तरफ से अर्धशतक बनाने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बने। अभिषेक 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर आउट हुए। दीपक चाहर ने अभिषेक को विकेट के पीछे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच कराया। अभिषेक ने 24 गेंदों पर 31 रन में चार चौके और एक छक्का लगाया। इससे पहले सलामी बल्लेबाज जानी बेयरस्टो खाता खोले बिना पहले ही ओवर में दीपक चाहर की गेंद पर बोल्ड हो गए। मनीष पांडेय 21 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 29 रन बनाकर शार्दुल ठाकुर की गेंद पर आउट हुए। कप्तान डेविड वार्नर को फाफ डू प्लेसिस के शानदार कैच ने पवेलियन भेजा। लेग स्पिनर पीयूष चावला की गेंद पर वार्नर ने बड़ा शॉट खेला। बॉउंड्री पर डू प्लेसिस ने गेंद को लपक लिया लेकिन संतुलन नहीं बना सके और बॉउंड्री से बाहर जाने से पहले उन्होंने गेंद को मैदान के अंदर उछाल दिया और फिर मैदान में आकर आसान कैच लपक लिया। वार्नर ने 29 गेंदों पर 28 रन में तीन चौके लगाए।

केन विलियम्सन 13 गेंदों में नौ रन बनाकर रन आउट हो गए। इसके बाद प्रियम और अभिषेक ने हैदराबाद को संभाला और पांचवें विकेट के लिए 77 रन जोड़े।अंत में अब्दुल समद आठ रन बनाकर नाबाद रहे। चेन्नई की तरफ से चाहर ने 31 रन पर दो विकेट लिए जबकि शार्दुल और चावला को एक-एक विकेट मिला। लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की शुरुआत काफी खराब रही और उसने नौंवें ओवर तक 42 रन पर चार विकेट गंवा दिए। शेन वाटसन की खराब फॉर्म इस मैच भी जारी रही और वह छह गेंदों में एक रन बनाने के बाद भवनेश्वर कुमार की गेंद पर बोल्ड हो गए। चोट से उबरकर वापसी करने वाले अंबाटी रायुडू नौ गेंदों में आठ रन बनाने के बाद टी नटराजन की गेंद पर बोल्ड हो गए। फाफ डू प्लेसिस ने 19 गेंदों में चार चौकों की मदद से 22 रन बनाकर रन आउट हो गए जिससे चेन्नई को करारा झटका लगा। केदार जाधव फिर फ्लॉप रहे और लेग स्पिनर अब्दुल समद ने उन्हें वार्नर के हाथों कैच करा दिया। जाधव 10 गेंदों में तीन रन ही बना सके। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आये लेकिन उन्हें रन गति तेज करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। उनके बल्ले से बड़े शॉट नहीं निकल पा रहे थे। आलराउंडर जडेजा ने 17वें ओवर में भुवनेश्वर पर लगातार तीन चौके मारकर टीम की स्थिति कुछ सुधारी। जडेजा ने नटराजन पर छक्का मारकर आईपीएल के इतिहास में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगली गेंद पर वह समद के हाथों बॉउंड्री पर लपके गए। जडेजा ने 35 गेंदों पर 50 रन में पांच चौके और दो छक्के लगाए। जडेजा का विकेट 114 के स्कोर पर गिरा। सैम करेन ने आने के साथ ही छक्का मारा। चेन्नई को अब आखिरी 12 गेंदों पर जीत के लिए 44 रन चाहिए थे और टीम को धोनी से बड़े छक्कों की जरूरत थी। भुवनेश्वर 19वां ओवर डाल रहे थे लेकिन एक गेंद डालने के बाद ही उनकी मांसपेशियों में खिंचाव आ गया। उन्होंने मैदान पर कुछ इलाज लेने के बाद दूसरी गेंद डालने की कोशिश की लेकिन दर्द के कारण वह रुक गए और उन्हें फिर मैदान से बाहर जाना पड़ गया।

खलील अहमद शेष पांच गेंद डालने आये। दूसरी गेंद पर खराब क्षेत्ररक्षण के कारण धोनी को चौका मिल गया। तीसरी गेंद पर दो रन गए। चौथी गेंद पर भी दो रन गए। धोनी इस समय कुछ असहज दिखाई दे रहे थे और उन्होंने टीम फिजियो को बुलाकर कुछ दवा ली। इस छोटे से ब्रेक के बाद धोनी ने पांचवीं गेंद पर छक्का जड़ दिया। छठी गेंद पर एक रन गया। अब चेन्नई को अंतिम छह गेंदों पर 28 रन चाहिए थे। समद आखिरी ओवर डाल रहे थे और पहली बाल पर उन्होंने पांच वाइड रन दे डाले। इस बीच धोनी ने अपना बल्ला बदल लिया। पहली गेंद पर दो रन गए। दूसरी गेंद पर धोनी के बल्ले से सीधा चौका निकला। समद ने तीसरी गेंद पर एक रन दिया। चौथी गेंद पर एक रन गया और जीत हैदराबाद की झोली में चली गयी। करेन ने आखिरी गेंद पर छक्का जरूर मारा लेकिन सिर्फ हार का अंतर ही कम कर सके। धोनी ने नाबाद 47 और करेन ने नाबाद 15 रन बनाये। हैदराबाद की तरफ से नटराजन ने दो विकेट लिए जबकि भुवनेश्वर और समद को एक-एक विकेट मिला।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें