पौराणिक कथाओं के अनुसार एक बार देवताओं ने अपनी हुंकार से सभी दानवों को समाप्त कर देने वाली माँ दुर्गा से शस्त्रों को धारण करने का कारण पूछा तो वहां मौजूद कुछ देवताओं ने इसका कारण माँ दुर्गा का शस्त्रों से दानवों को शुद्ध करने तथा उनकों मुक्ति देने के […]

सभी क्रियाओं से खुद को दूर कर आत्मा को विश्राम देना ही नवरात्रों का सही उद्देश्य है। सभी क्रियाओं का तात्पर्य खाना, बोलना, देखना, छूना, सुनना और सूंघना आदि से है । यदि आप इन सभी क्रियाओं से खुद को कुछ समय दूर रखते हैं तो ऐसे समय में मनुष्य […]

नवरात्र (Navratri) यानि आदि शक्ति के नौ दिन और वो नौ रातें जो केवल मां दुर्गा (Maa Durga) को ही समर्पित हैं। जिस वक़्त दो ऋतुओं का संगम होता है, तब ब्रह्मांड में असीम शक्तियाँ ऊर्जा के स्वरुप में हमारे तक पहुँचती है, यही समय होता है नवरात्र का। इन […]