पौराणिक कथाओं के अनुसार एक बार देवताओं ने अपनी हुंकार से सभी दानवों को समाप्त कर देने वाली माँ दुर्गा से शस्त्रों को धारण करने का कारण पूछा तो वहां मौजूद कुछ देवताओं ने इसका कारण माँ दुर्गा का शस्त्रों से दानवों को शुद्ध करने तथा उनकों मुक्ति देने के […]

सभी क्रियाओं से खुद को दूर कर आत्मा को विश्राम देना ही नवरात्रों का सही उद्देश्य है। सभी क्रियाओं का तात्पर्य खाना, बोलना, देखना, छूना, सुनना और सूंघना आदि से है । यदि आप इन सभी क्रियाओं से खुद को कुछ समय दूर रखते हैं तो ऐसे समय में मनुष्य […]

नवरात्र (Navratri) यानि आदि शक्ति के नौ दिन और वो नौ रातें जो केवल मां दुर्गा (Maa Durga) को ही समर्पित हैं। जिस वक़्त दो ऋतुओं का संगम होता है, तब ब्रह्मांड में असीम शक्तियाँ ऊर्जा के स्वरुप में हमारे तक पहुँचती है, यही समय होता है नवरात्र का। इन […]

प्रकृति के साथ हमारी चेतना के अंदर व्याप्त सतोगुण, रजोगुण और तमोगुण के उत्सव को ही नवरात्र कहते हैं। 9 दिनों तक चलने वाले इस उत्सव में पहले तीन दिन तमोगुणी प्रकृति की, दूसरे तीन दिन रजोगुणी और आखरी तीन दिन सतोगुणी प्रकृति की आराधना की जाती है, जिसका अपना […]

All Post


error: खुलासा डॉट इन khulasaa.in, वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट के अधीन हैं। यदि कोई संस्था या व्यक्ति, इसमें प्रकाशित किसी भी अंश ,लेख व चित्र का प्रयोग,नकल, पुनर्प्रकाशन, खुलासा डॉट इन khulasaa.in के संचालक के अनुमति के बिना करता है , तो यह गैरकानूनी व कॉपीराइट का उल्ल्ंघन है। यदि कोई व्यक्ति या संस्था करती हैं तो ऐसा करने वाला व्यक्ति या संस्था पर खुलासा डॉट इन कॉपी राइट एक्त के तहत वाद दायर कर सकती है जिसका सारे हर्जे खर्चे का उत्तरदायी भी नियम का उल्लघन करने वाला व्यक्ति होगा।