भारतीय कंपनियों को कितना मिला