Annapurna chalisa : श्री अन्नपूर्णा चालीसा ॥ दोहा ॥विश्वेश्वर पदपदम की रज निज शीश लगाय ।अन्नपूर्णे, तव सुयश बरनौं कवि मतिलाय । ॥ चौपाई ॥नित्य आनंद करिणी माता, वर अरु अभय भाव प्रख्याता ।जय ! सौंदर्य सिंधु जग जननी, अखिल पाप हर भव-भय-हरनी । श्वेत बदन पर श्वेत बसन पुनि, […]

शनिदेव (Shavi Dev) को न्याय का देवता कहा जाता है। सूर्यपुत्र शनिदेव सभी मनुष्यों के अच्छे और बुरे कर्मों के फलों को प्रदान करने वाले हैं। सभी देवों में शनि देव (Shani dev) को विशिष्ट स्थान प्राप्त है। शनि देव की महिमा (Shani Dev Mahima) ऐसी है कि वे पल […]

Hanuman chalisa in hindi lyrics with meaning भगवान शिव (Lord Shiv) के 11वें रुद्रावतार भगवान हनुमान (Hanuman Ji) जी ऐसे देवता है जो कलियुग में भी धरती पर विराजमान हैं। श्रीराम (Shri Ram) भक्त हनुमान जी को माता सीता ने अमरता का वरदान दिया था। कलियुग में हनुमान (Hanuman) अकेले […]

All Post