Devi Sita

  • सीता जी की आरती

    सीता बिराजथि मिथिलाधाम सब मिलिकय करियनु आरती।संगहि सुशोभित लछुमन-राम सब मिलिकय करियनु आरती।। विपदा विनाशिनि सुखदा चराचर,सीता धिया बनि अयली...