ramdhari singh dinkar - बड़ी खबरें

ramdhari singh dinkar poem krishna ki chetavani रामधारी सिंह दिनकर की कविता: कृष्ण की चेतावनी Hindi Poem
रामधारी सिंह दिनकर की कविता कृष्ण की चेतावनी
कविता

रामधारी सिंह दिनकर की कविता: कृष्ण की चेतावनी

Ramdhari singh dinkar poem krishna ki chetavani वर्षों तक वन में घूम-घूम, बाधा-विघ्नों को चूम-चूम, सह धूप-घाम, पानी-पत्थर, पांडव आये कुछ और निखर। सौभाग्य न सब दिन सोता है, देखें, आगे क्या होता है। मैत्री की राह बताने को, सबको सुमार्ग पर लाने को, दुर्योधन को समझाने को, भीषण विध्वंस बचाने को,