New Delhi 04 नवम्बर (एजेंसी) आज यानी कि गुरुवार, 4 नवंबर को दीपावली की पूजा में सामान्य पूजन सामग्री दीपक, प्रसाद, कुमकुम, फल-फूल आदि चीजें तो रखते ही हैं, लेकिन इनके साथ ही और कुछ खास चीजें भी हैं, जिन्हें पूजा में जरूर रखना चाहिए। पूजा में ये चीजें भी रखी जाती हैं तो लक्ष्मी की प्रसन्नता जल्दी प्राप्त हो सकती है –

लक्ष्मी जी चरण चिह्न

लक्ष्मी पूजा में देवी की मूर्ति, सोने-चांदी के सिक्के के साथ ही लक्ष्मी ची के चरण चिह्न भी रखना चाहिए। चरण चिह्न सोने, चांदी के या कागज पर बने चरण चिह्न भी रखे जा सकते हैं।

दक्षिणावर्ती शंख

दक्षिणावर्ती शंख को लक्ष्मी जी का भाई माना जाता है, क्योंकि लक्ष्मी जी की तरह ही शंख की उत्पत्ति भी समुद्र से ही होती है। इसलिए लक्ष्मी पूजा में दक्षिणावर्ती शंख भी जरूर रखें।

श्रीयंत्र

लक्ष्मी पूजन में श्रीयंत्र भी जरूर रखें। श्रीयंत्र स्फटिक का, सोने या चांदी का हो तो बहुत शुभ रहता है।

यह भी पढ़े : लक्ष्मी पूजन करते समय श्री लक्ष्मी द्वादशनाम स्तोत्रम् का पाठ करने से मिलता है लाभ

वंदनवार

आम, पीपल और अशोक के नए कोमल पत्तों की माला बनाएं और मुख्य द्वार पर लगाएं, इसे ही वंदनवार कहा जाता है। मान्यता है कि इन पत्तियों की महक से घर के आसपास सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

खीर

मान्यता है कि खीर लक्ष्मी का प्रिय व्यंजन है। दीपावली पर लक्ष्मी पूजा में मिठाई के साथ ही घर पर बनी खीर भी रखनी चाहिए।

पान

पूजा में पान रखने का विशेष महत्व है। पान के ऊपर स्वस्तिक बनाएं और उस सुपारी वाले गणेश जी स्थापित करें और पूजा में रखें। इसके साथ ही लगा हुआ पान भी पूजा में रखना चाहिए।

बताशे या गुड़

लक्ष्मी पूजन के बाद गुड़-बताशे का दान करने की परंपरा है। इस दान से घर-परिवार में सुख और समृद्धि बनी रहती है।

यह भी पढ़े : इस वर्ष दीपावली पर बन रहे हैं ग्रहों के दुर्लभ योग, ये चीजें अनिवार्य रूप से लक्ष्मी पूजा में रखें

गन्ना

महालक्ष्मी का एक रूप गजलक्ष्मी भी है और इस स्वरूप में वे ऐरावत हाथी पर सवार दिखाई देती हैं। लक्ष्मी के ऐरावत हाथी को ईख यानी गन्ना बहुत प्रिय है। इस वजह से पूजा में गन्ना जरूर रखें। पूजा पूरी होने पर प्रसाद के रूप में रखे गए गन्ने को किसी हाथी को खिला सकते हैं।

जवारे

दिवाली पर जवारे का पोखरा रखने की भी परंपरा है। सभी देवी-देवताओं के साथ ही माता अन्नपूर्णा की कृपा भी मिलती है। अन्नपूर्णा और लक्ष्मी कृपा से घर में धन-धान्य की कमी नहीं आती है।

यह भी पढ़े : Deepawali 2021 : दीपावली पर लक्ष्मी पूजन के लिए शुभ मुहूर्त, जाने

पीली कौड़ी

पूजा में पीली कौड़ियां रखने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है। ये पीली कौड़ियां धन और श्री यानी लक्ष्मी की प्रतीक मानी जाती हैं। पूजा के बाद इन कौड़ियों को तिजोरी में रखने की परंपरा है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें