• दिल्ली में बहुत घने कोहरे के कारण दृश्यता शून्य मीटर
  • राजधानी में घने कोहरे की भविष्यवाणी की गयी
  • राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक 436 दर्ज

नई दिल्ली, 16 जनवरी (एजेंसी)। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार को ब घने कोहरे के कारण दृश्यता कम होकर शून्य मीटर रह गयी, जिससे यातायात प्रभावित हुआ। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि इस मौसम में यह तीसरा मौका है जब दृश्यता कम होकर शून्य मीटर रह गयी है। इससे पहले पिछले साल आठ दिसंबर को और इस वर्ष एक जनवरी को दृश्यता कम होकर शून्य मीटर हो गयी थी।

यह भी पढ़ें : Farmers protest delhi : वर्चुअल आजादी बनाम किसान आंदोलन ?

अधिकारी ने बताया कि बहुत घना कोहरा होने के कारण पालम एवं सफदरजंग में दृश्यता कम होकर शून्य मीटर पर आ गयी है। रविवार को राजधानी में घने कोहरे की भविष्यवाणी की गयी है। मौसम विभाग के अनुसार दृश्यता जब शून्य से 50 मीटर के बीच होती है तो वह ‘बहुत घने कोहरे’ की श्रेणी में आता है। इसी प्रकार दृश्यता 51 से 200 मीटर के बीच रहने पर घना कोहरा, 201 से 500 मीटर के बीच मध्यम और 501 से 1000 मीटर के बीच दृश्यता रहने पर कम कोहरा होता है।

यह भी पढ़ें : Sahjanhapur news : जब हरे पेड़ से उठने लगी आग की लपटें, लोग हो गए अचंभित !

दिल्ली में न्यूनतम तापमान आज 6.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से एक डिग्री कम है। लोधी रोड मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। राजधानी के वायु गुणवत्ता सूचकांक में कोई बदलाव नहीं हुआ है और यह लगातार गंभीर श्रेणी में बनी हुआ है। राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह नौ बजे 436 दर्ज किया गया। आंकड़ों के अनुसार 24 घंटे का औसत सूचकांक शुक्रवार को 460, बृहस्पतिवार को 429, बुधवार को 354, मंलवार को 293 एवं सोमवार को 243 दर्ज किया गया था। मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि हवा की गति कम हुयी है और इसमें नमी ने प्रदूषको को भारी बना दिया है।

यह भी पढ़ें : DDA Housing Scheme 2021: डीडीए की आवासीय योजना में 7900 लोगों ने आवेदन किया

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें