Next Post

…और जब एक बेसहारा ने पौधों को बना लिया अपने जीने का सहारा !

बात एक पुरानी फिल्म के गीत की दो लाइनों से शुरू करते हैं, तुम बेसहारा हो तो किसी का सहारा बनो, तुमको अपने आप ही सहारा मिल जाएगा।। अनुरोध फिल्म की गीत की ये लाइनें अपने आप में बड़ा मतलब समेटे हुए हैं। इस गीत की लाइनों को सार्थक किया […]
Preety tyagi: The extraordinary story of a simple woman from Meerut!

All Post


error: खुलासा डॉट इन khulasaa.in, वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख कॉपीराइट के अधीन हैं। यदि कोई संस्था या व्यक्ति, इसमें प्रकाशित किसी भी अंश ,लेख व चित्र का प्रयोग,नकल, पुनर्प्रकाशन, खुलासा डॉट इन khulasaa.in के संचालक के अनुमति के बिना करता है , तो यह गैरकानूनी व कॉपीराइट का उल्ल्ंघन है। यदि कोई व्यक्ति या संस्था करती हैं तो ऐसा करने वाला व्यक्ति या संस्था पर खुलासा डॉट इन कॉपी राइट एक्त के तहत वाद दायर कर सकती है जिसका सारे हर्जे खर्चे का उत्तरदायी भी नियम का उल्लघन करने वाला व्यक्ति होगा।