Amazing things about barbet bird in hindi : छोटी गर्दन, बड़े सिर और लाल रंग की बड़ी भारी चोंच वाला हरा बंसता घने जंगलों और बाग बगीचों में अक्सर दिखाई देता है। चूंकि पक्षी के पंख हरे होते हैं इसलिए इसे हरा बंसल भी कहा जाता है। यह सफाई पंसद पक्षी है। यह परिंदा निचले हिमाचल से लेकर गोदावरी तक मिलता है। यह पक्षी छोटे-छोटे समूहों में रहता है। इसका कद मैना से थोड़ा बड़ा होता है।

नर और मादा लगभग एक समान होते हैं। उड़ान में यह कमजोर होता है। चोंच के पास उगे बालों की प्रारंभ में दाढ़ी समझ कर इसे बारबेट (Barbet Bird) नाम दिया गया था। इनकी 72 जातियों में 16 भारतीय है। अमेरिका में 12, अफ्रीका में 37 जातियां पायी जाती हैं।

amazing things about barbet bird in hindi जानिए (कुटर्रू) या हरा बंसता के बारे में रोचक जानकारी
amazing things about barbet bird in hindi जानिए (कुटर्रू) या हरा बंसता के बारे में रोचक जानकारी

 

हरे बसंता का मुख्‍य भोजन पीपल, बरगद जैसे वृक्षों के फल, सेमल के फूलों का मकरंद, कचनार के फूल और कीड़े-मकोड़े आदि हैं। यह गरमी की नीरव दोपहरी में भी बोलना बंद नहीं करता है। गर्मी की तपती दोपहरी में भी कुटुरू-कुटुरू राग अलापने के कारण इसे कुटर्रू भी कहा जाता है। नर और मादा मिलकर विशेषकर पुराने सड़ रहे वृक्षों या नरम लकड़ी के पेड़ों में कोटर बनाकर रहता है घरौंदा बनाते समय जो बुरादा कोटर से गिरता है। सामान्यतया मादा एक खेप में दो से चार अंडे देती है। अंडों को सेने और लालन-पालन का काम नर-मादा मिलकर करते हैं।

 

News Keyword : Amazing thing about barbet bird, Barbet, Barbet bird, barbet birds images, Green barbet, कुटुरू-कुटुरू राग, बारबेट, बारबेट वर्ड, हरा बंसता, हरा बंसता की तस्वीरें, हरा बंसल, हरे बसंता का मुख्‍य भोजन

 

Also Read: अब्राहम लिंकन को जानते हैं क्या आप

Also Read:  महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन के बारे में जानकर चौंक जाएंगे आप

Also Read:  सत्यार्थ प्रकाश के रचियता दयानंद सरस्वती के बारे में रोचक जानकारी

Also Read:  अपने खाए हुए साम्राज्य को दोबारा हासिल किया था हुंमायू ने

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें