एक है कंगारू चूहा | Kangaroo Rat

Amazing Facts About the Kangaroo Rat

Amazing Facts about the Kangaroo Rat: उत्तरी अमेरिका के रेगिस्तान को मूल निवासी कंगारू चूहा (Kangaroo Rat)  पानी नहीं पीता। यह भारतीय चूहे के आकार का स्तनधारी जीव है। अन्य चूहों की तरह ही यह भी अनाज खाता है और बिलों में रहता है। लेकिन इसे रेगिस्तान में पानी नसीब नहीं होता। फिर भी इसके शरीर में पानी की कमी नहीं होती।

यों प्रकृति में अनेक जीव हैं जो बिना पानी के भी जिंदा रह लेते हैं। खासकर सांप, छिपकली, कीट आदि। ये जो भी भोजन करते हैं, उसके माध्यम से शरीर में पानी की पूर्ति कर लेते हैं। जैसे ऊंट के बारे में यह कहना कि उसके शरीर में पानी की थैली होती है,
चलिए देखते हैं कि कंगारू चूहा जिंदा रहने के लिए पानी का इंतजाम कैसे करता है ?

कंगारू चूहे के शरीर में अन्य स्तनधारियों की तरह लगभग 70 फीसदी पानी होता है। सूखे बीज खाकर और रेगिस्तान में घूमते हुए भी कंगारू चूहे (Kangaroo Rat) के शरीर में पानी का संतुलन बना रहता है। इसे समझने के लिए एक अध्ययन किया गया। कंगारू चूहे (Kangaroo Rat) को 60 मिलीलीटर पीने की जरूरत होती है। यह लगभग 6 मिली पानी तो वातावरण से प्राप्त कर लेता है। यह जो बीज खाता है उसमें से भी पानी की कछ मात्रा होती है।


अगर वह 100 ग्राम बीज खाता है तो उसको 6 मिली पानी बीजों से मिल जाता है। बाकी के पानी के निर्माण उसके शरीर में रासायनिक क्रियाओं के दौरान होता है। इसके शरीर में होने वाली रासायनिक क्रिया में लगभग 54 मिली. पानी बनता है। इस तरह 60मिली पानी का इंतजाम हो जाता है।

कंगारू चूहा (Kangaroo Rat) इस पानी का उपयोग बहुत कंजूसी से करता है। रेगिस्तान में पाए जाने वाले पेड़-पौधों और जंतूओं की यह खूबी होती है कि वे अपने शरीर से पानी का खर्च काफी नपे तुले तरीके से करते हैं। जंतुओं के शरीर से पानी का खर्च मल मूत्र, पसीना और सांस के द्वारा होता है। कंगारू चूहे (Kangaroo Rat) की पेशाब में पानी की मात्रा कम होती है इसलिए यह गाढ़ी होती है। इसी तरह मल के साथ भी काफी कम पानी निकलता है। दोनों में क्रमशः 13.5 और 2.6 मिली, पानी निकलता है। सांस के माध्यम से 43.9 मिली पानी खर्च होता है। इसके शरीर से पसीने के रूप में पानी खर्च नहीं होता।

कंगारू चूहे (Kangaroo Rat) के शरीर में यदि 60 मिली पानी की व्यवस्था है तो खर्च भी लगभग इतना ही होता है। अपने शरीर में पानी का संतुलन बरकरार रखने के लिए दोपहरी में यह बिल में दुबका रहता है। बिल में ठंडक और नमी रहने के कारण पानी का खर्च कम होता है। इस तरह कंगारू चूहा (Kangaroo Rat) अपने शरीर में पानी के संतुलन बनाए रख पाता है।

 

Read all Latest Post on रोचक जानकारी interesting facts in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें
Title: amazing facts about the kangaroo rat in Hindi  | In Category: रोचक जानकारी interesting facts

Next Post

शोध के नाम पर...

Thu May 19 , 2016
हरिपाल त्यागी मेरा दोस्त है—बहुत प्यारा और क़दीमी। उसके साथ मेरी दोस्ती की उम्र आधी सदी से ऊपर हो चुकी है। मुझे याद है, दिल्ली प्रेस की लोकप्रिय पत्रिका मुक्ता की शुरुआत 1961 में हुई थी और तभी उसमें संस्कृत-नाटककार शूद्रक की रचना मृच्छकटिकम् का हिंदी-अनुवाद भव्य रूप में प्रकाशित […]
phdhats

All Post


Leave a Reply