Insectivorous plants : कैसे कैसे पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को

Insectivorous plants in Hindi : पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को

Insectivorous plants in hindi : जीवन के लिए पेड़-पौधों की उपस्थिति बहुत जरूरी है। इसी कारण चारों तरफ हरियाली छाई रहती है। कीट पतंगें (Insects) तो हर जगह पाए ही जाते हैं। चाहे बर्फ से ढ़के पहाड़ हो या सूखे रेगिस्‍तान चाहे बड़ी-बड़ी झीलें हो या हरियाली भरे मैदान। आओ अब जानते हैं कि कीट पतंगों को खाने वाले (insect eating plants) पेड़-पौधों के बारे में। पेड़-पौधे इन को रिझाने के लिए क्‍या-क्‍या रूप धरते हैं यह जानना बड़ा रोचक है। दरअसल दलदली जमीन या पानी के समीप उगने वाले कुछ पौधों को आवश्‍यक मात्रा में नाइट्रोजन (nitrogen) नहीं मिल पाता है जिस कारण ये कीट-पतंगे (Insects) खाकर इस कमी को पूरी करते हैं।
कीट पतंगे खाने-वाले पेड़-पौधों (Insective plants) की पत्तियां (leaf) बहुत विचित्र होती हैं। कुछ पेड़-पौधों की पत्तियां कीट-पतंगों को पकड़ने के लिए सुराही जैसी तो कुछ की तुरही की तरह होती हैं।

कैसे कैसे पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को जानिए खुलासा डॉट इन पर pitcher plant the eat insects information in hindi


नेपिन्थिस (Nepenthes)

यह हमारे देश में असम की खसिया और गारो पहाडि़यों पर मिलता है। इसकी पत्तियों के सिरे पर एक सुराही जैसा आकार होता है। यही इसका फंदा है जिसमें यह कीट-पतंगों को फंसाता है। यह चमत्‍कारी सुराही डेढ़ से आठ इंच तक लंबी होती है। देखने में बहुत लगने वाली इस सुराही के मुंह पर सब और किनारे-किनारे शहद की थैलियां एक कतार में होती है। कीट पतंगे (Insects) सुराही के रंग से आकर्षित होकर शहद के लालच में अपनी जान गंवा बैठते हैं। चिकनी दीवार के कारण ये रेंगकर बाहर भी निकल नहीं पाते। इसके तल में रस रहता है जो इन्‍हें जल्‍दी ही पचा जाता है और पचे हुए भाग को इसकी दीवारें सोख लेती हैं।

 

Insectivorous plants in Hindi : पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को

सेरोसेनिया (Sarsainiya)

इस पौधे में तुरही की शक्‍ल की थैली नुमा पत्तियां जमीन पर एक झुंड में सजी रहती हैं। आकर्षक रंग की ये पत्तियां अपने मुंह पर कुछ ग्रंथियां लिए रहती हैं जिनमें शहद होता है। कीट पतंगे बस इसके रंग और शहद के चक्‍कर में पड़कर थैली के भीतर चले जाते हैं और फिर तुरही के मुंह के भीतर लगे कांटों के कारण बाहर नहीं निकल पाते।

 

कैसे कैसे पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को pitcher plant the eat insects information in hindi

ड्रोसैरा (Drosera)

यह एक बहुत सुंदर कीट-भक्षी पौधा (carnivorous plants) है जो कि शिमला, मसूरी और नैनीताल में उगता है। इसकी गोल-गोल पत्तियां के किनारे लाल रंग की घुण्‍डी वाले आलपिन सरीखे बाल होते हैं जिनसे एक चिपचिपा रस निकलता रहता है। ड्रोसैरा पौधे (Drosera plants) से निकला यह रस धूप की रोशनी में ओस की तरह चमकता है। नन्‍हें कीट पतंगों को यही रस चिपका लेता है और फिर घुण्डियां मुड़कर चारों ओर से उसे घेर लेती है।

कैसे कैसे पौधे जो हजम कर जाते हैं जिंदा कीट पतंगों को pitcher plant the eat insects information in hindi

डायोनिया (dionaea)

इसमें कीट पतंगों (Insects) को पकड़ने वाला फंदा जमीन पर सजी पत्तियां होती हैं। यह भी ड्रोसैरा (Drosera) की तरह ही शिकार करता है। यह अमेरिका में पाया जाता है। इसके अपने शिकार को पचाने में एक हफ्ते से अधिक का समय लग जाता है।


 

 

 

 


Read all Latest Post on रोचक जानकारी interesting facts in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: insectivorous plants in hindi in Hindi  | In Category: रोचक जानकारी interesting facts

Next Post

'नक्काश' की स्टारकास्ट ने दिया प्यार और भाईचारे का संदेश

Sat May 18 , 2019
मुंबई की सड़कों पर उस दिन अनोखा ही नज़ारा देखने को मिला। फिल्म नक्काश की स्टार कास्ट इस मौके पर साइकिल की सवारी करते हुए मुंबईकर्स को प्यार और भाईचारे का संदेश देती नज़र आई। ‘नक्काश’ की कहानी बनारस के मंदिरों के गर्भगृह में काम करने वाले एक कारीगर की […]
nakkash movie starcast gave the message of love and botherhoodnakkash movie starcast gave the message of love and botherhood

Leave a Reply