जब से कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है तब से दुनिया में युद्ध हथियारों के बल पर नहीं, बल्कि तकनीक के दम पर लड़े जाने लगे है । आधुनिक तकनीक को सेंध लगाकर इन्सान बर्बाद कर देने की सोच रखने वाले इन्सान को ही  हैकर (Hacker) कहा जाता हैं।

[wp_ad_camp_2]

jonathan-james

[wp_ad_camp_2]

जोनाथन जेम्स : इंटरनेट की दुनिया में ‘कामरेड’ के नाम से जाने जाने वाले जोनाथन जेम्स (jonathan james) ने महज 15 साल की उम्र सबसे बड़े हैकर का खिताब अपने नाम कर लिया था । छोटी सी उम्र में ही जेम्स अमेरिकी सरकार को नेस्तनाबूत कर देने की शक्ति प्राप्त कर ली थी क्योंकि अमेरिकी सरकार के लगभग सभी डाटाबेसों चाहे वो  रक्षा विभाग हो या नासा, सभी के नेटवर्क तक जेम्स ने अपनी पहुंच बना ली थी |

 

 

[wp_ad_camp_2]

kevin-mitnick

[wp_ad_camp_2]

केविन मिटनिक : अमेरिका के इतिहास में केविन मिटनिक (kevin mitnick ) को मोस्ट वांटेड साइबर क्रिमिनल माना जाता है | केविन मिटनिक (kevin mitnick ) के जीवन पर आधारित दो हॉलीवुड फिल्में भी हैं। 5 साल जेल में बिताने के बाद मिकनिक ने खुद को बदलते हुए कंसल्टेंट का कार्य शुरू किया तथा लोगों को कंप्यूटर सिक्योरिटी पर टिप्स भी देने लगा। आज कल  मिकनिक खुद की एक कंपनी चला रहा है जो साइबर सिक्योरिटी की दिशा में काम करती है।

 

 

[wp_ad_camp_2]

albert-gonzalez

[wp_ad_camp_2]

अल्बर्ट गोंजालेज : 17 करोड़ लोगों के क्रेडिट-डेबिट कार्ड की डिटेल्स को बेचकर अल्बर्ट गोंजालेज (albert gonzalez ) ने करोड़ों कमाये तथा उसका शैडोक्यूस नाम का एक ग्रुप भी था। पकड़े जाने के बाद अल्बर्ट गोंजालेज को 20-20 साल की दो सजाएं सुनाई गईं, जो अब तक चल रही है |

 

 

[wp_ad_camp_2]

kevin-poulsen

[wp_ad_camp_2]

केविन पॉलसनः ‘डार्क दांते’ के नाम से जाने जाने वाले केविन पॉलसन (kevin poulsen) ने एक रेडियो स्टेशन का सिस्टम हैक कर के एक शो जीता था, जिसके लिए उसने 15 मिनट तक सभी फोन लाइनों पर कब्जा जमाये रखा था । एक बार केविन ने एक सुपरमार्केट के पूरे सिस्टम को हैक कर लिया था ।  सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ‘मायस्पेस’ पर सक्रिय 744 यौन अपराधियों की पहचान कर के केविन पॉलसन ने अमेरिकी पुलिस की मदद करने में अहम भूमिका निभायी थी |

 

[wp_ad_camp_2]

gary-mckinnon

[wp_ad_camp_2]

गैरी मैकिनॉन : ‘सोलो’ के नाम से चर्चित गैरी मैकिनॉन (Gary McKinnon ) ने दुनिया में सबसे बड़े मिलिटरी ऑपरेशन के सिस्टम को हैक करने का तमगा हासिल किया | गैरी मैकिनॉन के अनुसार 13 माह काम करके वो सिर्फ यूएफओ और सौर ऊर्जा पर नियंत्रण के उपाय ढूंढ रहा था जबकि अमेरिकी अधिकारियों ने मुताबिक वो 300 कंप्यूटरों पर अपना नियंत्रण जमा कर अनगिनत बेहद संवेदनशील फाइलों को डिलीट कर रहा था ।

 

 

[wp_ad_camp_2]

jeanson-james-ancheta

[wp_ad_camp_2]

जेम्स एंचेता : हैकरों के गुरु कहे जाने वाले जेम्स एंचेता (james ancheta) ने 2004 में ऐसा वायरस तैयार किया था जो कंप्यूटर में जाते ही उसके लॉग-इन डिटेल्स हैकर को पहुंचा देता था | घर बैठे बैठे ही ऐसा कर के जीनसन ने 5 लाख कंप्यूटरों तक पहुंच हासिल कर ली थी | 10वीं फेल जीनसन ने कई वेबसाइटें को हैक कर के उनके मालिकों से पैसा वसूले थे । 2005 में एफबीआई ने जीनसन को स्टिंग ऑपरेशन कर के पकड़ लिया तथा उसे 5 साल की जेल की सजा दी गई।

 

 

 

[wp_ad_camp_2]

george-hotz

[wp_ad_camp_2]

जॉर्ज हॉट्ज : जॉर्ज हॉट्ज सिर्फ तकनीक की कमियों को खोजकर कंपनियों को उसे सुधारने के लिए मजबूर करता था, उसने हमेशा एप्पल जैसी बड़ी कंपनीयों पर अपना ध्यान केन्द्रित (Concentrated ) रखा | अपने ब्लॉग पर जॉर्ज हॉट्ज ने आईफोन के सभी मॉडलों का तोड़ लिखने के साथ साथ आईफोन, आईपैड के साथ ही आईपॉड की भी कमियां सार्वजनिक कीं। जिसके चलते एप्पल ने जॉर्ज को कोर्ट में तक घसीटने की कोशिश भी की मगर मामला कोर्ट के बाहर ही सुलझा लिया गया।

 

 

 

[wp_ad_camp_2]

adrian-lamo

[wp_ad_camp_2]

एड्रियन लामो : एड्रियन लामो (adrian lamo ) को ‘होमलेस हैकर’  के नाम से भी जाना जाता है तथा न्यूयॉर्क टाइम्स और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों के सिक्योरिटी सिस्टम में सेंध लगाकर अपने हैकर होने का सबूत दिया था | अमेरिकी कोर्ट ने 2 साल प्रोबेशन पीरियड में रखने के साथ साथ 65 हजार डॉलर के जुर्माने सहित 6 माह हाउस अरेस्ट में रखा |

 

 

 

[wp_ad_camp_2]

robert-tappan-morris

[wp_ad_camp_2]

रॉबर्ट टप्पन मॉरिस : अमेरिका के नेशनल कंप्यूटर सिक्योरिटी सेंटर के मुख्य विज्ञानी रॉबर्ट मॉरिस के बेटे रॉबर्ट टप्पन मॉरिस ने सबसे पहले कंप्यूटर वायरस की खोज की थी | मॉरिस ही पहले ऐसे व्यक्ति है जिन्हें कंप्यूटर फ्रॉड केस में सजा दी गयी थी । पढ़ाई के दौरान ही उसने मॉरिस वायरस की खोज कर कंप्यूटर की दुनिया में तहलका (stir) मचा दिया था तथा काफी कंपनियों को नुकसान भी पहुंचाया था ।

 

 

 

[wp_ad_camp_2]

owen-walker

 

[wp_ad_camp_2]

 

 

ओवेन वॉकर : 18वें जन्मदिवस से पहले ओवेन वॉकर उर्फ़ ‘AKKIL’  ने खुद को कंप्यूटर हैकिंग की दुनिया के अंतरराष्ट्रीय हैकरों के ग्रुप में शामिल कर लिया था | वॉकर ने एक्बॉट वायरस बनाकर 13 लाख कंप्यूटरों तक अपनी पहुच बनाकर 2 करोड़ 60 लाख डॉलर का नुकसान किया था । इस वायरस के कारण कंप्यूटर अपने आप क्रैश हो जा रहे थे। मौजूदा समय में ओवेन वॉकर एक ऑस्ट्रेलियन टेलीकम्यूनिकेशन कंपनी की सिक्योरिटी डिवीजन का हेड है।

 

 

 

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें